पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
 पहला पन्ना > Print | Send to Friend | Share This 

चुप रहें आडवाणी : सिंहल

चुप रहें आडवाणी : विश्व हिंदू परिषद

नई दिल्ली. 28 नवंबर 2009


विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष अशोक सिंघल ने कहा है कि वह लालकृष्ण आडवाणी को राम मंदिर के मुद्दे पर कुछ भी बोलने से मना करेंगे. उन्होंने कहा कि लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट कबाड़ है और रद्दी की टोकरी में फेंक देने के लायक है. सिंहल ने कहा कि वाजपेयी मंदिर आंदोलन से जुड़े रहे थे और उन्हें एक बार लखनऊ में गिरफ्तार भी किया गया गया था.

दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत में सिंघल ने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिंह राव मंदिर आंदोलन से सहानुभूति रखते थे और मेरी धीरूभाई अंबानी के सौजन्य से राव से तीन बार मुलाकात हुई थी.

विहिप के अध्यक्ष अशोक सिंघल ने से कहा कि राजनीतिक दलों को लिब्रहान रिपोर्ट को खारिज कर देना चाहिये और संसद में कानून बनाकर अयोध्या में रामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर देना चाहिए. उन्होंने कहा कि संसद में ऐसा कानून नही बनाया गया तो हिन्दू समाज प्रचंड आंदोलन चलाने के लिये बाध्य होगा. सिंघल ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह मामला 40 वर्ष से निचली अदालत में और 20 वर्ष से उच्च न्यायालय में लंबित है अगर 60 वर्ष तक फैसला नहीं होगा तो वही स्थिति उत्पन्न होगी जो छह दिसंबर को देखने को मिली थी.

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   

 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in