पहला पन्ना > Print | Send to Friend | Share This 

चुप रहें आडवाणी : सिंहल

चुप रहें आडवाणी : विश्व हिंदू परिषद

नई दिल्ली. 28 नवंबर 2009


विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष अशोक सिंघल ने कहा है कि वह लालकृष्ण आडवाणी को राम मंदिर के मुद्दे पर कुछ भी बोलने से मना करेंगे. उन्होंने कहा कि लिब्रहान आयोग की रिपोर्ट कबाड़ है और रद्दी की टोकरी में फेंक देने के लायक है. सिंहल ने कहा कि वाजपेयी मंदिर आंदोलन से जुड़े रहे थे और उन्हें एक बार लखनऊ में गिरफ्तार भी किया गया गया था.

दिल्ली में पत्रकारों से बातचीत में सिंघल ने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री पीवी नरसिंह राव मंदिर आंदोलन से सहानुभूति रखते थे और मेरी धीरूभाई अंबानी के सौजन्य से राव से तीन बार मुलाकात हुई थी.

विहिप के अध्यक्ष अशोक सिंघल ने से कहा कि राजनीतिक दलों को लिब्रहान रिपोर्ट को खारिज कर देना चाहिये और संसद में कानून बनाकर अयोध्या में रामजन्मभूमि पर भव्य मंदिर के निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर देना चाहिए. उन्होंने कहा कि संसद में ऐसा कानून नही बनाया गया तो हिन्दू समाज प्रचंड आंदोलन चलाने के लिये बाध्य होगा. सिंघल ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह मामला 40 वर्ष से निचली अदालत में और 20 वर्ष से उच्च न्यायालय में लंबित है अगर 60 वर्ष तक फैसला नहीं होगा तो वही स्थिति उत्पन्न होगी जो छह दिसंबर को देखने को मिली थी.