पहला पन्ना >राज्य >उ.प्र. Print | Share This  

दुर्गा शक्ति नागपाल ने नहीं गिरवाई दीवार

दुर्गा शक्ति नागपाल ने नहीं गिरवाई दीवार

लखनऊ. 1 अगस्त 2013

दुर्गा शक्ति नागपाल


उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर के डीएम की एक रिपोर्ट ने राज्य की अखिलेश यादव सरकार के झूठ की पोल खोल दी है. रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है कि धर्मस्थल की जिस विवादित दीवार को गिराने के आरोप में जिले की एसडीएम दुर्गा शक्ति नागपाल को निलंबित किया गया था वह उसने नहीं बल्कि गांव वालों ने गिराई थी.

यूपी सरकार को डीएम द्वारा भेजी गई इस रिपोर्ट में कहा गया है कि गांव में किसी भी प्रकार का तनाव नहीं है. जबकि अखिलेश सरकार द्वारा कहा गया था कि धर्मस्थल की दीवार गिराने ने इलाके में तनाव है और सांप्रदायिक सौहार्द बिगड़ने के खतरा बढ़ गया है इसीलिए नागपाल को हटाने का फैसला लिया गया था.

डीएम की इस रिपोर्ट के बाद राज्य भाजपा ने अखिलेश यादव सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि यह अब साफ हो गया है कि यूपी में हालात अब बद से भी बदतर हो रहे हैं और आईएएस दुर्गा का निलंबन माफिया के दबाव में लिया गया था. भाजपा ने शिवपाल यादव को पूरे मामले की लीपापोती करने का आरोपी ठहराते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश भी इन माफियाओं के दवाब में आ गए हैं.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले नोएडा में खनन माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाने वाली आईएएस दुर्गा शक्ति नागपाल को राज्य सरकार ने गत शनिवार को निलंबित कर दिया था जिसके बाद से अखिलेश सरकार को चौतरफा आलोचना झेलनी पड़ी है और उनके निलंबन को वापस लिए जाने की मागं हो रही है. हालांकि राज्य सरकार अपने निर्णय पर अड़ी हुई है.