पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राज्य >उड़ीसा Print | Share This  

राजा भैया को सीबीआई की क्लीन चिट

राजा भैया को सीबीआई की क्लीन चिट

लखनऊ. 1 अगस्त 2013

रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया


सीबीआई ने प्रतापगढ़ कुंडा में पुलिस उपाधीक्षक रहे जिया उल हक की हत्या के मामले में आरोपी रहे उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री और सपा के बाहुबली नेता रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया को अपनी अंतिम जाँच रिपोर्ट में क्लीन चिट दे दी है. सीबीआई ने गुरुवार को लखनऊ स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में राजा भैया की पॉलीग्राफी टेस्ट रिपोर्ट के साथ यह फाइनल रिपोर्ट दाखिल की.

उल्लेखनीय है कि इससे पहले सीबीआई ने 8 मार्च को मामले में राजा भैया के खिलाफ खुद एफआईआर दर्ज कराई थी. लेकिन अब जांच एजेंसी कह रही है कि उसे राजा भैया के खिलाफ जिया-उल-हक की हत्या के संबंध में कोई ऐसा सबूत नहीं मिला जिससे उनके खिलाफ मुकदमा चलाया जा सके.

जांच एजेंसी ने राजा भैया के अलावा मामले में नामजद किए गए उनके अन्य करीबियों-गुलशन यादव, गुड्डू सिंह, राजीव सिंह और हरिओम श्रीवास्तव को भी आरोप मुक्त कर दिया है.  वैसे इससे पहले सीबीआई द्वारा दाखिल आरोपपत्र में भी राजा भैया का नाम नहीं था. अब जांच एजेंसी का मानना कर चल रही है कि जिया उल हक की हत्या ग्राम प्रधान के बेटे बब्लू व अन्य परिजनों द्वारा की गई.

गौरतलब है कि विगत दो मार्च को कुंडा के वलीपुर गांव में ग्राम प्रधान नन्हें यादव की हत्या के बाद हुई हिंसा को काबू करने गए सीओ जिया उल की हत्या कर दी गई थी. इसी दौरान प्रधान के भाई सुरेश की भी मौत हो गई थी. सीओ की हत्या में नाम आने के बाद राजा भैया ने जेल एवं खाद्य रसद मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था.

अब राजा भैया ने प्रतिक्रिया देते हुए संवादाताओं से कहा, "जो बात हम लोग इतने दिनों से कह रहे थे, आज उस पर सच्चाई की मुहर लग गई और ये मेरा सौभाग्य है कि सच्चाई लोगों के सामने आ गई और दूध का दूध पानी का पानी हो गया."


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in