पहला पन्ना >राज्य > Print | Share This  

खनन माफिया का एसडीएम पर हमला

खनन माफिया का एसडीएम पर हमला

शिमला. 9 अगस्त 2013

younus khan


उत्तर प्रदेश की निलंबित आईएएस अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपाल के बैचमेट रहे हिमाचल के नालागढ़ में पोस्टेड एसडीएम युनूस खान भी रेत माफिया का शिकार बनते बनते बच गए. अवैध खनन की जांच करने गए युनुस खान गुरुवार को एक टैक्टर ट्राली ने तब उनकी सरकारी गाड़ी को रौंदने की कोशिश की जब उन्होंने उसे रुकने का इशारा किया.

पुलिस अधीक्षक एस. अरुल ने कहा, "एसडीएम यूनुस खान बुधवार को अन्य अधिकारियों के साथ गैर कानूनी खनन की जांच करने गए थे. जब उन्होंने बजरी और रेत लदे दो वाहनों को देखा तो उन्हें रुकने का इशारा किया. लेकिन वाहन चालकों ने रोकने की जगह गति तेज कर दी और एसडीएम के वाहन को रौंदने की कोशिश की."

उन्होंने कहा, "कथित गैर कानूनी खनन में संलिप्त वाहन चालक माखन सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है. हमें गैर कानूनी खनन की अन्य घटनाओं की भी जानकारी मिली है. हम मामले की जांच कर रहे हैं. जांच खत्म होने के बाद और लोग गिरफ्तार किए जाएंगे."

यूनुस, दुर्गा शक्ति नागपाल के बैच के आईएएस अधिकारी हैं. नागपाल को उत्तर प्रदेश सरकार ने कथित रूप से रेत माफिया पर सख्ती बरतने के कारण निलंबित कर दिया है, हालांकि राज्य सरकार का कहना है कि निलंबन का बालू माफिया से कोई लेनादेना नहीं है. राज्य सरकार ने निलंबन का कारण एक मस्जिद की दीवार गिराया जाना बताया है.

हिमाचल के डीजीपी संजय कुमार ने कहा कि एसडीएम को रौंदने के प्रयास मामले में सरकारी सेवक के काम में बाधा डालने के आरोप में मामला दर्ज कर लिया गया है. उन्होंने कहा, "इस समय हम यह नहीं कह सकते कि यह गैर कानूनी खनन का मामला है. हम इसकी जांच कर रहे हैं."

अधिकारियों ने कहा कि एसडीएम की गाड़ी ने ट्रैक्टर ट्रेलर से आगे निकल कर रुकने का इशारा किया, लेकिन ट्रैक्टर चालक ने एसडीएम के वाहन को टक्कर मार दी.

एक अधिकारी ने कहा, "ट्रैक्टर का चालक एसडीएम के वाहन को टक्कर मारने के बाद भागने की कोशिश में था." अधिकारियों ने बताया कि पर्वतीय राज्य के पंजाब से सटे इलाकों में गैरकानूनी खनन हो रहा है. नालागढ़ इलाका पंजाब की सीमा पर स्थित है.