पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

फिर दिग्विजय के निशाने पर मोदी

फिर दिग्विजय के निशाने पर मोदी

नई दिल्ली. 9 अगस्त 2013

दिग्विजय सिंह


कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उनसे पूछा है कि अगर वे ईमानदार हैं तो लोकायुक्त से इतना क्यों डरते हैं?. ट्विटर पर दिग्विजय ने सवाल उठाया कि जब से मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री बने हैं राज्य में लोकायुक्त नहीं है तो ऐसे में गुजरात में भ्रष्टाचार के खिलाफ कहां शिकायत दर्ज कराई जा सकती है?

उल्लेखनीय है कि हाल ही में गुजरात के लोकायुक्त के तौर पर चुने गए जस्टिस आर.ए.मेहता ने अपनी नियुक्ति के खिलाफ राज्य सरकार की लंबी और खर्चीली कानूनी लड़ाई को एक मुख्य वजह बता कर यह पद ठुकरा दिया था. उन्होंने राज्यपाल कमला बेनीवाल और सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को लिखे पत्र में सात वजहों का जिक्र किया था, 'जिनके आधार पर वह खुद को लोकायुक्त पद के लिए तैयार नहीं कर पा रहे हैं.'

इसी मामले को लेकर काफी विवाद पैदा हुआ था और अब दिग्विजय ने कहा है कि मोदी ने लोकायुक्त की नियुक्ति रोकने के लिए 45 करोड़ रुपए खर्च किए हैं. उन्होंने सोशल मीडिया पर सक्रीय मोदी समर्थकों की चुटकी लेते हुए भी कहा है कि देखना है मुझे इन सवालों परक क्या प्रतिक्रिया मिलती है. वैसे मैं जानता हूं मुझे क्या मिलेगी, सिर्फ अभद्र टिप्पणियां.

उधर लोकायुक्त पद के लिए जस्टिस मेहता के इंकार के बाद काफी किरकिरी झेल रही गुजरात सरकार ने कहा है कि वो जल्द ही लोकायुक्त की नियुक्ति चाहती है और इसके लिए वो अपने कानूनी विकल्पों का अवलोकन कर रही है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in