पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

मनमोहन कोलंबो राष्ट्रमंडल बैठक में ना जाएं: डीएमके

कोलंबो राष्ट्रमंडल बैठक में ना जाएं पीएम: डीएमके

चेन्नई. 17 अगस्त 2013

सलमान खुर्शीद


डीएमके अध्यक्ष एम. करुणानिधि ने धमकी दी है कि यदि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह कोलंबो में आयोजित होने जा रहे राष्ट्रमंडल देशों की सरकारों के प्रमुखों की बैठक में भाग लेने से इंकार करने की घोषणा नहीं करते हैं तो पूरे राज्य में चक्का जाम, घरों और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर काले झंडे फहराए जाएंगे.

गौरतलब है कि श्रीलंका के विदेश मंत्री जी. एल. पीरिस रविवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को बैठक में शामिल होने का न्योता देने के लिए नई दिल्ली पहुंचने वाले हैं.

यहां जारी एक बयान में करुणानिधि ने पीरिस की प्रस्तावित यात्रा का उल्लेख करते हुए कहा है, "प्रधानमंत्री तमिलों की मांग को नजरअंदाज करते हुए खुले तौर पर घोषणा करें कि भारत इस बैठक में हिस्सा नहीं लेने जा रहा है."

करुणानिधि ने कहा कि यदि केंद्र ने यह आग्रह ठुकरा दिया तो भारत के फैसले के विरोध में डीएमके रेल रोको और घरों व व्यावसायिक प्रतिष्ठानों पर काले झंडे लहराएगा. उन्होंने कहा कि लंका सरकार अंतर्राष्ट्रीय मंच पर अपनी विश्वासनीयता खो चुका है और अपने संविधान के 13वें संशोधन के प्रावधानों का घालमेल करने का प्रयास कर रहा है.

श्रीलंका में भारत समर्थित 13वां संविधान संशोधन 1987 में हुआ था जिसमें द्वीप देश के उत्तरी और पूर्व के तमिल बहुल क्षेत्र को स्वायत्तता प्रदान करना सुनिश्चित किया गया था. राष्ट्रपति महिदा राजपक्षे शासन ने प्रावधानों को नरम बनाने की चेतावनी दी है जिससे असंतोष फैल गया है.