पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

सज्जन कुमार को हाईकोर्ट से राहत नहीं

सज्जन कुमार को हाईकोर्ट से राहत नहीं

नई दिल्ली. 27 अगस्त 2013

सज्जन कुमार


सिख विरोधी दंगों के मामले में कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को निचली अदालत द्वारा दी गई राहत के खिलाफ सीबीआई की याचिका दिल्ली उच्च न्यायालय ने मंगलवार को विचारार्थ स्वीकार कर ली. अब न्यायमूर्ति जी.एस. सिस्तानी और न्यायमूर्ति जी.पी. मित्तल की पीठ मामले की अगली सुनवाई 30 अक्टूबर को करेगी.

इसे पहले गत 30 मई को निचली अदालत ने सज्जन कुमार को 1984 के सिख विरोधी दंगों में दिल्ली छावनी इलाके में पांच लोगों की हत्या के मामले में संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था.

अदालत ने उनको बरी करते समय कहा था कि सज्जन कुमार को संदेह का लाभ मिलना चाहिए, क्योंकि प्रमुख गवाह जगदीश कौर ने एक पैनल के सामने दी गई गवाही में उनका नाम आरोपी के तौर पर नहीं लिया था.

सज्जन कुमार को बरी किए जाने के खिलाफ पीड़ितों के कुछ परिजनों ने भी याचिका दायर की थी. अदालत की सलाह के बाद उन्होंने अपनी याचिका वापस ले ली. अदालत ने कहा कि उन्होंने जिस आधार पर याचिका दायर की है उसे सीबीआई की याचिका में ही एक अतिरिक्त आधार बना दिया जाएगा.