पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राज्य >गुजरात Print | Share This  

प्रजापति एनकाउंटर: कांग्रेस के निशाने पर मोदी

प्रजापति एनकाउंटर: कांग्रेस के निशाने पर मोदी

नई दिल्ली. 3 सितंबर 2013

narendra modi


तुलसीराम प्रजापति एनकाउंटर मामले में एक स्टिंग ऑपरेशन की सीडी जारी करते हुए कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि भारतीय जनता पार्टी के कुछ नेता पार्टी महासचिव अमित शाह के खिलाफ चल रही अदालती कार्यवाही को प्रभावित करने की साजिश कर रहे हैं. साथ ही उसने जाँच पूरी होने तक गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के इस्तीफे की मांग की है

यह सीडी एक पत्रकार पुष्प कुमार द्वारा बनाई गई है. उसने अपने इन स्टिंग ऑपरेशन के आधार पर अदालत में याचिका दाखिल कर आरोप लगाया है कि भाजपा के सांसदों प्रकाश जावड़ेकर और भूपेंद्र सिंह यादव ने शाह के बचाव के इरादे से मामले की सुनवाई और न्यायिक प्रक्रिया के दौरान शिकायतकर्ता पर गलत तरीके से दबाव बनाया.

इस स्टिंग में कथित तौर पर पुष्प कुमार से बीजेपी के प्रवक्ता प्रकाश जावड़ेकर और भूपेंद्र यादव अदालती कार्यवाही में अमित शाह को फायदा पहुंचाने के लिए तुलसीराम की मां नर्मदा बाई से कोरे वकालतनामे पर अंगूठे का निशान लेने के लिए कहते हुए रेकॉर्ड किए गए हैं.

उल्लेखनीय है कि सोहराबुद्दीन शेख और उनकी पत्नी कौसरबाई की हत्या के मामले के एकमात्र गवाह रहे तुलसीराम प्रजापति की 28 दिसंबर 2006 को एक कथित फर्जी मुठभेड़ में हत्या कर दी गई थी. इस मामले में राज्य के तत्कालीन गृह मंत्री और नरेंद्र मोदी के करीबी अमित शाह मुख्य आरोपी हैं.

कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने मंगलवार को एक प्रेस वार्ता में कहा, "जांच प्रक्रिया अभी जारी है तो मोदी मुख्यमंत्री के पद पर कैसे रह सकते हैं. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता नरेंद्र मोदी ने अपने पद और साख का इस्तेमाल कर न्याय व्यवस्था में हस्तक्षेप किया है."  उन्होंने मामले की सीबीआई जाँच की भी मांग की है.

वहीं गुजरात के वरिष्ठ कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल ने कहा, "कैमरे में दिखाई दे रहे इंसान प्रकाश जावाड़ेकर ही हैं. भाजपा अब उस पत्रकार की विश्वसनीयता को चुनौती दे रही है, जिसने यह वीडियो रिकॉर्ड किया है और यदि उन्हें पत्रकार की विश्वसनीयता पर संदेह है तो सीडी को फोरेंसिक विभाग को सौंप दें, उनका सत्यापन तो मान्य होगा."

इधर, भाजपा ने मोदी के खिलाफ लगे सारे आरोपों को खारिज कर दिया है. भाजपा के राज्य सभा सांसद बलबीर पुंज ने कहा, "हमें कांग्रेस से इस्तीफे के सिवा और किसी मांग की अपेक्षा भी नहीं है. उन्होंने बीते तीन चुनावों में मोदी को चुनौती दी, लेकिन हर बार गुजरात की जनता ने उन्हें अस्वीकार कर दिया."


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in