पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

सोनिया गांधी को अमरीकी अदालत से समन

सोनिया गांधी को अमरीकी अदालत से समन

न्यूयॉर्क. 4 सितंबर 2013

सोनिया गांधी


अमरीका की एक संघीय अदालत ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को 1984 के सिख विरोधी मामले में समन जारी किया है. यह समन उनके द्वारा सिख विरोधी दंगों में कथित तौर पर शामिल पार्टी नेताओं का बचाव करने के आरोपों के लिए जारी किया गया है. अमेरिका स्थित मानवाधिकार संगठन सिख फॉर जस्टिस (एसएफजे) और दंगों के कुछ पीड़ितों ने इसके संबंध में मंगलवार को याचिका दायर की थी.

न्यूयॉर्क के यूएस इस्टर्न डिस्ट्रिक कोर्ट में दायर याचिका इस याचिका में सोनिया गांधी के खिलाफ मुआवजा और दंडात्मक कार्रवाई की मांग की गई थी. गौरतलब है कि सोनिया गांधी अभी चिकित्सीय जाँच के लिए अमरीका में ही मौजूद हैं.

सिख फॉर जस्टिस के वकील गुरपतवंत एस. पन्नू के अनुसार, संघीय नियमों के तहत गांधी को सम्मन देने और उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराने के लिए 120 दिनों का समय है.

एलियन टॉर्ट क्लेम्स एक्ट (एटीसीए) और टॉर्चर विक्टिम प्रोटेक्शन एक्ट (टीवीपीए) के तहत दायर इस याचिका में गांधी पर 1984 की हिंसा में कथित तौर पर शामिल कमलनाथ, सज्जन कुमार, जगदीश टाइटलर और कांग्रेस के अन्य नेताओं को संरक्षण देने का आरोप है.

शिकायत में कहा गया है कि एक नवंबर और चार नवंबर 1984 के बीच सिख समुदाय के 30,000 लोगों निशाना बनाया गया था जिसके पीछे कांग्रेस पार्टी के कुछ नेताओं का हाथ था और अभी कांग्रेस अध्यक्ष उन सबको संरक्षण देने का कार्य कर रही है.