पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

सांप्रदायिक हिंसा के लिए विपक्ष जिम्मेदार: सपा

सांप्रदायिक हिंसा के लिए विपक्ष जिम्मेदार: सपा

लखनऊ. 8 सितंबर 2013

उत्तरप्रदेश


उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में भड़की हिंसा के लिए कड़ी आलोचना झेल रही समाजवादी पार्टी ने राज्य में बिगड़े हालात के लिए विरोधी दलों को ही जिम्मेदार ठहराया है. पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि लोकसभा चुनावों में अपनी सुनिश्चित पराजय की आशंका से बौखलाये विपक्षी अब सांप्रदायिकता का जहर फैलाने में लगे हैं और सामाजिक सद्भाव उन्हें फूटी आंखों नहीं सुहाता है.

चौधरी ने कहा कि मुजफ्फरनगर में जो कुछ घटा है, उसके पीछे वे दल हैं जो राज्य सरकार की विकास योजनाओं से चिढ़े हैं और उन्हें अपनी जमीन खिसकती नजर आती है

उधर हिंसा में मरने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक रविवार रात तक 26 लोगों की जान गई है और 40 लोग घायल हुए हैं. शासन ने जिले के ग्रामीण इलाकों में फैली हिंसा को रोकने के लिए पूरी ताकत झोंक दी है. तीन थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है.

बिगड़े हालात को काबू में करने पहुंचे सूबे के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) अरुण कुमार ने रविवार देर शाम पत्रकारों से बातचीत के दौरान हिंसा में अब तक 26 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की. स्थानीय लोग हालांकि मृतकों की संख्या 30 बता रहे हैं.

अरुण कुमार ने कहा कि हिंसा में अब तक 26 लोग मारे गए हैं और 52 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस और सेना स्थिति को नियंत्रित करने में जुटी हुई है. ज्यादातर इलाकों में हिंसा पर काबू पा लिया गया है और बाकी जगहों पर जल्द ही हालात काबू में कर लिए जाएंगे. उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों में हिंसा फैलने की वजह से कार्रवाई में दिक्कतें आ रही हैं और इसीलिए सेना की मदद ली गई है. उन्होने कहा कि प्रयास किया जा रहा है कि जल्द ही स्थिति सामान्य हो जाए. छह गांवों में हिंसा फैली है.

उन्होंने कहा कि महापंचायत आयोजित करने वाले लोगों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा. उल्लेखनीय है कि मुजफ्फरनगर में 26 अगस्त को छेड़छाड़ की एक घटना के बाद भड़की हिंसा में तीन लोगों की मौत हो गई थी. इसी घटना को लेकर एक पक्ष द्वारा शनिवार को महापंचायत बुलाई गई थी जिस पर हुए पथराम के बाद से सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in