पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >अंतराष्ट्रीय > Print | Share This  

सीरिया पर रूसी प्रस्ताव से सहमत ओबामा

सीरिया पर रूसी प्रस्ताव से सहमत ओबामा

वॉशिंगटन. 10 सितंबर 2013

ओबामा


अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रूस के सीरिया के रासायनिक हथियारों को अंतर्राष्ट्रीय नियंत्रण में ले लिया जाने के प्रस्ताव का स्वागत किया है. अमेरिका ने इस प्रस्ताव को एक 'संभावित सकारत्मक प्रगति' करार दिया है और कहा है कि इससे सीरिया संकट के समाधान का कोई रास्ता निकल सकता है. हालांकि उसने ने इस प्रस्ताव को कार्रवाई रोकने की रणनीति के रूप में इस्तेमाल न किए जाने के बारे में चेताया भी है.

ओबामा के इस बयान को सीरिया पर संभावित कार्रवाई को लेकर वैश्विक स्तर पर मिल रही आलोचना के बाद हमलों को लेकर ओबामा प्रशासन के संशय से जोड़कर देखा जा रहा है. इससे पहले भी ओबामा यह कह चुके हैं कि सीरिया पर अमरीका सीमित कार्रवाई करेगा जो कि इराक से बिल्कुल अलग होगी.

विभिन्न टेलीविजन चैनलों को दिए साक्षात्कार में ओबामा ने कहा कि वह सीरिया संकट का समाधान सैन्य हमले की जगह कूटनीतिक रूप से किए जाने को तरजीह देंगे. उन्होंने कहा कि अगर सीरिया सरकार रासायनिक हथियारों को अपने नियंत्रण से मुक्त कर देती है तो वह सैन्य कार्रवाई स्थगित कर देंगे.

ओबामा ने कहा, "विदेश मंत्री जॉन केरी और राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित टीम के लोग रूस के साथ बातचीत करेंगे और अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी को इस बात का इंतजार करना है कि क्या हम कुछ ठोस और गंभीर समाधान ला सकते हैं." ओबामा ने हालांकि कहा कि उन्हें इस बात पर संदेह है सीरिया रासायनिक हथियारों को नियंत्रण मुक्त कर देगा.

ओबामा ने कहा कि यह प्रस्ताव उनके लिए नया नहीं है, क्योंकि वह रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन से जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान इस तरह के समाधान पर चर्चा कर चुके हैं.

उल्लेखनीय है कि रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने सोमवार को यह प्रस्ताव रखा था और सीरिया से उसके रासायनिक हथियारों के जखीरे को अंतर्राष्ट्रीय नियंत्रण में रखे जाने की मांग की थी ताकि उसे नष्ट किया जा सके. इस प्रस्ताव पर सीरिया ने भी सकारात्मक प्रतिक्रिया जाहिर की थी.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in