पहला पन्ना >राजनीति >राजस्थान Print | Share This  

आसाराम को जमानत नहीं

आसाराम को जमानत नहीं

जोधपुर. 30 सितंबर 2013

आसाराम


नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी आसाराम को जमानत नहीं मिली है. सोमवार को उनकी न्यायिक हिरासत 11 अक्टूबर तक के लिए बढ़ा दी गई है. आसाराम पिछले एक महीने से जेल में हैं. माना जा रहा है कि उनकी सुनवाई करने वाले जज को धमकी दिये जाने के बाद से नाराजगी थी. इधर दुष्कर्म के आरोपी आसाराम की सुनवाई कर रहे जोधपुर के जिला न्यायाधीश को धमकी के मामले में पुलिस ने जांच शुरु कर दी है. पुलिस ने आशंका जताई है कि यह काम आसाराम के किसी शिष्य का हो सकता है. इस बारे में यथासंभव धमकी देने वाले का पता लगाने की कोशिश की जा रही है.

गौरतलब है कि आसाराम पर नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म का मामला चल रहा है और वे इन दिनों जेल में हैं. इस बीच इस मामले की सुनवाई कर रहे जिला न्यायाधीश मनोज कुमार व्यास को धमकी भरा पोस्टकार्ड मिला है. इस पोस्टकार्ड में धमकी दी गई है और इसका परिणाम भुगतने के बारे में भी कहा गया है.

पुलिस का कहना है कि कर्नाटक के गुलबर्गा से भेजे गये इस पत्र में न्यायधीश मनोज कुमार व्यास को कहा गया है कि आसाराम को जेल भेज कर आपने पाप किया है. पत्र में चेतावनी दी गई है कि अगर आसाराम की जल्दी रिहाई नहीं होती है तो इसके परिणाम अच्छे नहीं होंगे. इधर पुलिस ने कहा है कि इस मामले की जांच कर रही पुलिस को भी धमकियां मिली हैं और पुलिस इसकी भी जांच कर रही है. पुलिस का कहना है कि मामले की जांच के लिये कर्नाटक सरकार से भी मदद ली जाएगी.