पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >खेल > Print | Share This  

मास्टर ब्लास्टर सचिन का सन्यास

मास्टर ब्लास्टर सचिन का सन्यास

मुंबई. 10 अक्टूबर 2013

सचिन तेंदुलकर


क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने विश्व क्रिकेट में अपने 24 साल के ओजस्वी करियर को विराम देने का फैसला किया है. सचिन ने गुरुवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के माध्यम से घोषणा की कि वह नवंबर में वह अपने 200वें टेस्ट मैच के बाद सन्यास ले लेंगे. अभी सचिन 198 टेस्ट मैच खेल चुके हैं यानी कि वह नवंबर में खेले जानी वाली भारत-वेस्टइंडीज़ टेस्ट सिरीज़ उनकी आखिरी सिरीज़ होगी.

गौरतलब है कि भारत और वेस्टइंडीज टेस्ट श्रृंखला का दूसरा टेस्ट मैच 14 नवम्बर से मुंबई में खेला जाएगा. इसी मैच के बाद सचिन टेस्ट क्रिकेट से सन्यास ले लेंगे. सचिन एकदिवसीय मैचों से बीते साल दिसंबर में सन्यास ले चुके हैं. उन्होंने हाल ही में समाप्त चैम्पियंस लीग के साथ ही पेशेवर ट्वेंटी-20 क्रिकेट से भी सन्यास की घोषणा की थी.

गुरुवार को बीसीसीआई द्वारा जारी सचिन के बयान में कहा गया है, "मैंने जीवन में देश के लिए खेलने का सपना पाला था. बीते 24 साल से मैं हर दिन इस सपने को जी रहा हूं. मेरे लिए क्रिकेट के बगैर रहना नामुमकिन सा लगता है क्योंकि 11 साल की उम्र से मैं इस खेल के साथ रचा-बसा हूं. देश के लिए खेलना मेरे लिए महान सम्मान की बात है. मैं अपने घरेलू मैदान पर 200वां टेस्ट मैच खेलते हुए इस महान खेल को अलविदा कहना चाहता हूं."

"बीते सालों में मेरा साथ देने के लिए मैं बीसीसीआई को धन्यवाद कहना चाहता हूं. साथ ही मैं अपने परिवार को उसके संयम और मेरी भावना को समझने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं. सबसे बाद में और सबसे अधिक दिल से मैं अपने प्रशंसकों को धन्यवाद कहना चाहता हूं, जिन्होंने लगातार अपनी प्राथर्नाओं और हौसलाअफजाई से मुझे अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करनी की क्षमता और शक्ति प्रदान की."

मास्टर ब्लास्टर सचिन का करियर:

क्रिकेट के इतिहास में विश्व के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में गिने जाने वाले सचिन रमेश तेंदुलकर का जन्म 24 अपैल 1973 को हुआ था. सन् 1989 में महज 16 वर्ष की आयु में पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच में खेलकर अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण के पश्चात् वे बल्लेबाजी में कई कीर्तिमान स्थापित कर चुके हैं.

सचिन ने टेस्ट व एक दिवसीय क्रिकेट, दोनों में सर्वाधिक शतक बनाए हैं और साथ ही वे टेस्ट क्रिकेट में 14000 से अधिक रनों के साथ सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ है. सचिन पहले ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 100 से अधिक शतक लगाने का कारनामा किया है.

सचिन को क्रिकेट में मिली सफलता को देखते हुए उन्हें राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार और पद्म विभूषण जैसे सर्वोच्च सम्मान प्राप्त हुए हैं. वर्तमान में वे राज्यसभा के सांसद भी हैं.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in