पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

कानपुर रैली मोदी का सर्कस: कांग्रेस

मोदी की कानपुर रैली सर्कस: कांग्रेस

नई दिल्ली. 19 अक्टूबर 2013

नरेंद्र मोदी


कांग्रेस ने भाजपा के पीएम इन वेटिंग नरेंद्र मोदी की कानपुर रैली को सर्कस बताया है. मोदी की रैलियों में जुटी भीड़ पर रेणुका ने कटाक्ष करते हुए कहा 'मोटापा देखकर ताकत मत जानिए, लोग तो सर्कस देखने गए थे.' उन्होंने कहा कि पैसा देकर लिखे भाषण सुनाने वाले मोदी जनता को सिनेमा दिखा रहे हैं. उन्होंने यह भी कहा कि इतनी भीड़ जुटना मोदी या भाजपा के लिए बड़ी बात हो सकती है, कांग्रेस तो हमेशा से इसकी आदी है.

इससे पहले नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कानपुर रैली में अपने भाषण में केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि सरकार का केवल एक ही मजहब होता है 'इंडिया फर्स्ट' और एक ही धर्म ग्रंथ होता है, वह है भारत का संविधान. कांग्रेस मुक्त भारत का नारा देते हुए मोदी ने कोयला घोटाले और सीमा पर हो रहे पाकिस्तानी हमलों के बारे में यूपीए सरकार को घेरा.

इसके अलावा मोदी ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री को राजस्थान में चिकन खिलाने पर भी केंद्र सरकार को कोसा था. मोदी के इस भाषण की विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने भी आलोचना की है. उन्होंने कहा कि “आगरा वार्ता के समय क्या अटल बिहारी जी ने परवेज मुशर्रफ को भूखा वापस भेजा था? वह बता दें कि उन्होंने पाकिस्तानियों को कैसा भोजन करवाया था, हम भी उसके बाद वैसा ही करेंगे.”

इधर उत्तरप्रदेश की सत्तारू समाजवादी पार्टी ने भी मोदी की कानपुर रैली को पूरी तरह विफल करार देते हुए कहा है कि बीजेपी के नए 'पीएम इन वेटिंग' नरेंद्र मोदी की 'विजय शंखनाद रैली' पूरी तरह विफल रही है.