पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

नोटों के बंडल पर नींद पड़ी महंगी

नोटों के बंडल पर नींद पड़ी महंगी

अगरतला. 20 अक्टूबर 2013

sleeping on rupees


नोटों की गड्डियों पर सोना त्रिपुरा के सीपीआई (एम) नेता समर आचार्य को महंगा पड़ गया है. पार्टी ने इसे अनैतिक कार्य बताते हुए आचार्य को निलंबित कर दिया है. पार्टी के राज्य सचिव बिजन धर ने कहा, `हम इस प्रकार के अनैतिक कार्यों का समर्थन नहीं करते हैं. ऐसा लगता है कि उनके खिलाफ उच्चतम संभव दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी’

धर ने कहा कि ‘पार्टी द्वारा की गई शुरुआती जांच से पता चलता है कि आचार्य ने खुद अपने मोबाइल फोन से यह वीडियो लिया जो उनके मित्र ने एक टेलीविजन चैनल को लीक कर दिया.’

दरअसल त्रिपुरा की जोगेंद्रनगर समिति के सदस्य और पेशे के ठेकेदार समर आचार्य को एक विडियो में नोटों के बंडलों पर लेटे हुए दिखाया है. इस विडियो में आचार्य कह रहे हैं, “मैंने अपने बैंक खाते से 20 लाख रुपए निकाले हैं जिससे कि मैं नोटों पर सोने का अपना वर्षों पुराना सपना पूरा कर सकूं.”

बीते गुरुवार को प्रसारित इस वीडियो में आचार्य ने इसके साथ यह भी कहा कि वह पार्टी के अन्य सदस्यों की तरह पाखंडी नहीं हैं, जो खुद तो ढेरों धन दबाए बैठे हैं और खुद को सर्वहारा के तौर पर दिखाते हैं. वीडियो में आचार्य ने यह भी बताया है कि उसने त्रिपुरा में 2400 कम लागत वाले शौचालय बना कर किस तरह कई सालों में 2.5 करोड़ रुपए कमाए हैं.

वीडियो के एक स्थानीय टीवी चैनल में प्रसारित होने के बाद काफी बवाल मचा था. इसके बाद राज्य की विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने मांग की है कि वामपंथी नेताओं और मंत्रियों की चलअचल संपत्ति का पता चल सके. राज्य कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रतन लाल नाथ ने माकपा नेताओं पर सार्वजनिक धन का उपयोग कर आकूत धन अर्जित करने का आरोप भी लगाया है.