पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

मोदी का एकता राग राजनीतिक हथकंडा

मोदी का एकता राग राजनीतिक हथकंडा

नई दिल्ली. 2 नवंबर 2013

मोदी


मुस्लिमों संगठन जमात-ए-इस्लामी-हिंद ने कहा है कि नरेंद्र मोदी द्वारा पटना विस्फोट के मौके पर किया गया हिंदू-मुस्लिम एकता का आह्वान 'महज एक राजनीतिक हथकंडा' था.

संगठन के प्रमुख मौलाना जलालुद्दीन उमरी ने यहां मीडिया से कहा, "नरेंद्र मोदी की हिंदू-मुस्लिम एकता की बात करना पांच राज्यों में होने जा रहे चुनाव से पहले एक राजनीतिक हथकंडा है." उल्लेखनीय है कि पटना में बीते रविवार को मोदी की रैली में हुए धमाकों में छह लोग मारे गए थे.

मोदी की रैली को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) द्वारा धर्मनिरपेक्ष करार देने के प्रयास पर उमरी ने कहा कि इस तरह के उपायों से पार्टी को कोई लाभ नहीं होने जा रहा. भाजपा ने मुस्लिमों से बड़ी संख्या में अपनी परंपरागत वेशभूषा, नकाब और टोपी पहनकर सभा में आने का आह्वान किया है.

उमरी ने कहा, "बुर्के (नकाब) के पीछे कौन है इसे कौन जानता है? उसके पीछे एक मर्द भी हो सकता है. मैं मुस्लिमों के ऐसे प्रतीकों के इस्तेमाल की निंदा करता हूं."