पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

मीनाक्षी लेखी को आज देना होगा जवाब

मीनाक्षी लेखी को आज देना होगा जवाब

नई दिल्ली. 1 दिसंबर 2013

नोटिस


भाजपा प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी को रविवार की शाम तक महिला आयोग को जवाब पेश करना होगा. हालांकि वो बार-बार सफाई दे रही हैं कि उनका अकाउंट हैक कर के रेप पीड़िता का नाम सार्वजनिक किया गया है लेकिन अगर मामले की जांच होगी तो लेखी की मुश्किलें कम नहीं हो पाएंगी.

महिला आयोग ने नोटिस दे कर तेजपाल रेप केस की पीड़िता की पहचान उजागर करने के मामले में जवाब तलब किया है. महिला आयोग की सदस्या शमीना शफीक ने कहा है कि इसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा. मीनाक्षी लेखी अगर ऐसी गलतियां करेंगी तो हम किसकी बात करें. पता नहीं नेताओं को क्या हो गया है. किसी महिला का घर कालिख से पोत दिया जाता है. कहीं कहा जाता है कि महिलाओं को नौकरी नहीं मिलेगी. ऐसा कहना एक दंडनीय अपराध है. इसके लिए हम एक्शन लेंगे और पूछेंगे कि उन्होंने ऐसा क्यों किया.

गौरतलब है कि तरुण तेजपाल यौन उत्पीड़न मामले में पीड़िता की पहचान सार्वजनिक कर चुकीं भाजपा प्रवक्ता और वरिष्ठ वकील मीनाक्षी लेखी अब अपने वक्तव्य से पलट गई हैं. शुक्रवार को लेखी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट किया जिसमें पीड़ित महिला पत्रकार का उपनाम भी था. इसके कुछ ही देर बाद लेखी को अपनी गलती का एहसास हुआ और उन्होंने इस ट्वीट को हटा दिया.

जब अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने लेखी से इस बाबत पूछताछ की तो उन्होंने कहा कि एक मिनट के भीतर ही मुझे अपनी गलती का अहसास हो गया था और यह ट्वीट हटा लिया गया था. यह अधूरी पहचान थी और असावधानीवश ऐसा किया गया.

अखबार ने शनिवार को अपनी खबर में यह बात सार्वजनिक किया कि इस फोन के मात्र एक घंटे के भीतर ही लेखी ने अपना आधिकारिक रुख बताने के लिए फोन किया. अखबार के अनुसार फोन पर लेखी का कहना था कि उन्होंने यह ट्वीट किया ही नहीं. किसी ने मेरे फोन का गलत इस्तेमाल किया और यह किसी की शरारत थी. कानून के बारे में मुझसे ज्यादा कौन जानता है.

शनिवार को भी लेखी इस मामले में बैकफुट पर दिखीं और कहा कि ये उनके खिलाफ कांग्रेस द्वारा की गई राजनीतिक साजिश है. उन्होंने यह भी बताया कि कुछ दिनों पहले उनके जीमेल और फेसबुक अकाउंट को हैक कर लिया था. हालांकि माना जा रहा है कि मीनाक्षी लेखी जो कुछ कह रही हैं, वह महज लिपापोती के तौर पर उभर तक सामने आया है. ऐसे में उनके खिलाफ होने वाली कार्रवाई पर सबकी नज़र बनी रहेगी.