पहला पन्ना > मुद्दा > शिक्षा Print | Send to Friend | Share This 

मामूली पाठ्यक्रमों के लिए आस्ट्रेलिया क्यों

मामूली पाठ्यक्रमों के लिए आस्ट्रेलिया क्यों

नई दिल्ली. 08 जनवरी 2010


आस्ट्रेलिया में भारतीय छात्रों पर लगातार हो रहे नस्लीय हमलों के मद्देनज़र विदेश मंत्री एम. एस. कृष्णा का कहना है कि मामूली पाठ्यक्रमों के लिए भारतीय छात्रों को आस्ट्रेलिया जाने की कोई ज़रूरत नहीं है. गुरुवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि “उच्च शिक्षा के लिए यदि विद्यार्थी आस्ट्रेलिया जाते हैं तो समझ में आता है, लेकिन केशसज्जा जैसे पाठ्यक्रमों के लिए वहां जाना मुझे समझ में नहीं आता है”.

उन्होंने कहा कि ऐसे कोर्सों के लिए एक से के बढ़कर संस्थान मुंबई, दिल्ली जैसे महानगरों में भरे पड़े हैं. इसके साथ ही उन्होंने भारतीय अभिभावकों और छात्रों को सलाह दी है कि वे पाठ्यक्रम का चयन करते समय समझदारी से काम लें. इसके साथ ही उन्होंने आस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त पीटर वर्गीज से भेंट कर आस्ट्रेलिया में रह रहे भारतीय छात्रों की सुरक्षा के बारे में आश्वासन भी मांगा.