पहला पन्ना >व्यापार > Print | Share This  

किंगफिशर की संपत्ति जप्त की गई

किंगफिशर की संपत्ति जप्त की गई

बेंगलुरु. 15 दिसंबर 2013

kingfisher airlines


पहले ही मुश्किल में चल रही विमानन कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस की मुश्किलें बढ़ाते हुए आयकर विभाग ने अब उसकी सारी संपत्ति जप्त कर ली है. आयकर विभाग ने यह कदम उस पर बकाया 350 करोड़ रुपए के टैक्स की वसूली के लिए उठाया है. विभाग अब इस संपत्ति को बेचकर अपनी बकाया राशि वसूलेगा.

इसकी जानकारी देते हुए आयकर विभाग के एक अधिकारी लोकेश ने बताया, "हमने किंगफिशर एयरलाइंस की समस्त संपत्ति जब्त कर ली है और कंपनी की संपत्ति को बेचकर बकाया वसूल करने की प्रक्रिया में हैं."

उन्होंने यह भी कहा कि मुंबई घरेलू हवाईअड्डे के निकट वेस्टर्न एक्स्प्रेस हाईवे पर स्थिति किंगफिशर हाउस को आयकर अधिनियम 1961 की दूसरी अनुसूची के तहत जब्त कर लिया गया है.

उल्लेखनीय है कि प्रसिद्ध उद्योगपति विजय माल्या की बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस ने कारोबारी साल 2010-11 और 2011-12 में अपने कर्मचारियों के वेतन और अन्य भुगतानों में स्रोत पर कर कटौती की थी, लेकिन उन्हें सरकार के खाते में जमा कर पाने में असफल रही थी.

इसके बाद आयकर विभाग ने कंपनी पर कर्नाटक उच्च न्यायालय के पांच दिसंबर 2012 के आदेश का सम्मान नहीं करने का भी आरोप लगाया. इस आदेश में छह सप्ताह के भीतर मांग की गई राशि का आधा भुगतान करने और शेष आधे के लिए बैंक गारंटी देने के लिए कहा गया था.