पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
 पहला पन्ना > अंतराष्ट्रीय Print | Send to Friend | Share This 

धार्मिक आधारों पर बंट गया है ब्रिटेन

धार्मिक आधारों पर बंट गया है ब्रिटेन

लंदन. 13 जनवरी 2010


ब्रिटेन की बहुत बड़ी आबादी मानती है कि इस्लाम के कारण देश की पहचान संकट में पड़ सकती है. देश के आधे से अधिक नागरिकों की राय है कि धर्म के मुद्दे पर गहरी असहमतियां हैं.

हाल ही में आये ब्रिटिश सोशल ऐटीट्यूड सर्वे में ये जानकारियां सामने आई हैं. 4,486 लोगों के साथ साक्षात्कार के बाद तैयार किये गये इस सर्वे के अनुसार ब्रिटेन में चार में से एक ही व्यक्ति इस्लाम के बारे में सकारात्मक विचार रखता है.

रिपोर्ट के अनुसार 55 फीसदी लोगों के अनुसार अगर उनके इलाके में कोई बड़ी मस्जिद बनाई जाती है तो उन्हें तकलीफ होगी. हालांकि इस सर्वे में शामिल 15 फीसदी लोगों ने कहा कि उन्हें चर्च को लेकर भी ऐसी परेशानी है. 52 फीसदी लोगों ने कहा कि ब्रिटेन धार्मिक आधारों पर बंट चुका है. धर्म के आधार पर बढ़ते तनाव के मद्देनजर इन नतीजों को लेकर ब्रिटेन में काफी चिंता बढ़ रही है.

सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें
 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Javed Anwar (javedia@rediffmail.com) Durg (C. G.)

 
 I think govt should ban the show-off of religion for all the community. One should understand that religion is for self, not to show it other. If the neigbhour know that you are doing prayer then it is not religion...it is show off. Similarly the govt should ban the spreading prayer places.
 
   
[an error occurred while processing this directive]
 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in