पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

आम जनता चलाएगी सरकार: केजरीवाल

आम जनता चलाएगी सरकार: केजरीवाल

नई दिल्ली. 28 दिसंबर 2013

arvind kejriwal


आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री के पद की शपथ लेने के बाद जनता को संबोधित करते हुए कहा कि जनता ने जिस तरह से उनका साथ दिया है, वह किसी चमत्कार से कम नहीं है. इसके लिए उन्होंने ईश्वर को धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि दिल्ली के डेढ़ करोड़ लोग मिलकर सरकार बना रहे हैं और वे सभी लोग मिलकर इसे चलाएंगे.

केजरीवाल ने कहा कि जब तक इस देश की राजनीति नहीं बदलती यहां की समस्याओं का समाधान नहीं किया जा सकता. उन्होंने कहा कि अन्ना हजारे अक्सर कहते थे कि राजनीति कीचड़ है लेकिन हमने हमेशा कहा कि हम इस कीचड़ में उतर कर इसकी सफाई करेंगे.

दिल्ली के नए मुख्यमंत्री ने नौकरशाही की चर्चा करते हुए कहा कि सभी नौकरशाह भ्रष्ट नहीं हैं. कुछ लोग भ्रष्ट हैं लेकिन अधिकांश अधिकारी देश और दिल्ली की जनता की सेवा करना चाहते हैं.

अपनी पार्टी के विधायकों और मंत्रियों को घमंड नहीं करने की नसीहत देते हुए केजरीवाल ने कहा कि आप का जन्म स्थापित राजनीतिक पार्टियों के घमंड को दूर करने के लिए हुआ. ऐसा न हो कि आप के घमंड को तोड़ने के लिए किसी अन्य राजनीतिक पार्टी का जन्म हो.

दिल्ली की जनता की इच्छाओं और आकांक्षाओं की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि फल तो हमारे हाथ में नहीं है, लेकिन हमें सच्चाई के रास्ते पर चलना है. केजरीवाल ने कहा कि उनको विश्वासमत के पारित होने या गिरने की चिंता नहीं है. विश्वासमत गिरने पर हम फिर जनता के पास जाएंगे. जनता चुनावों के लिए तैयार है.

केजरीवाल ने कहा कि यदि देश से भ्रष्टाचार खत्म हो जाए तो देश फिर से सोने की चिड़िया बन सकता है. केजरीवाल ने उपस्थित लोगों को रिश्वत न तो देने और न ही लेने की कसम खिलाई. इसके बाद अंत में उन्होंने अपनी पार्टी की प्रार्थना गवाई.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

nikhil kumar singh [nikhil.sing92@gmail.com] ranchi,jharkhand - 2013-12-28 12:24:25

 
  केजरीवाल सर, सबसे पहले आपके चरणों में साष्टांग दंडवत नमस्कार करता हूं. सर आप जैसे युगपुरुष क युग में कभी-कभी जन्म लेते हैं सर. हम इसी दिन के इंतजार में थे कि कोई मानव मसीहा आएगा और इंसान के जख्मों पर मरहम लगाएंगे (नर पूजा यानी नारायण पूजा). आध्यात्म के तरफ से भी देखा जाए तो आप दुनिया के सबसे उम्दा पुजारियों में है. सर मैं आपके कदम से कदम मिलाकर चलना चाहता हूं और आगे भी नर पूजा नारायण पूजा को प्रैक्टिकल करना चाहता हूं और इस हांडमांस के शरीर को सार्थक बनाना चाहता हूं. लेकिन मैं कभी किसी भी बुराई नहीं करना चाहता हूं और न सुना चाहता हूं न देखना चाहता हूं क्योंकि मैं इस बात पर विश्वास करता हूं कि अगर अंधेरा है तो सूर्य के निकलते ये साबित हो जाएगा कि अंधेरा है. अगर बिना बुराई किये सुने और देखे मैं अगर आपका सहयोगी बन पाऊंगा तो अपने आप को धन्य समझूंगा. निखिल कुमार सिंह. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in