पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

अमरीकी राजनयिक को निष्कासित किया गया

अमरीकी राजनयिक को निष्कासित किया गया

नई दिल्ली. 10 जनवरी 2013

देवयानी खोब्रागड़े


भारत ने भारतीय राजनयिक देवयानी खोब्रागड़े मामले में संलिप्त एक अमेरिकी राजनयिक को शुक्रवार को निष्कासित कर दिया. यह कार्रवाई देवयानी को अमेरिका छोड़ने का निर्देश देने के बाद की गई है. आधिकारिक सूत्र ने कहा कि अमेरिकी दूतावास से कहा गया है कि वे 'देवयानी के समकक्ष अमेरिकी राजनयिक को स्वदेश लौटने के लिए कह दें.'

सूत्र ने कहा, "हमें इस पर भरोसा करने का कारण है कि वह अधिकारी देवयानी से जुड़ी पूरी प्रक्रिया और उसके बाद अमेरिका की एकतरफा कार्रवाई में शामिल था."

इस मसले पर अभी अमेरिकी दूतावास की टिप्पणी नहीं मिल पाई है. निष्कासित किए गए अमेरिकी राजनयिक का नाम भी अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है.

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के एक ग्रैंड जूरी ने भारतीय राजनयिक देवयानी को औपचारिक रूप से आरोपित कर दिया और उन्हें अमेरिका छोड़ने के लिए कह दिया. उसके बाद देवयानी स्वदेश रवाना हो चुकी हैं. लगभग महीने भर पहले देवयानी को अमेरिका में कथित वीजा धोखाघड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सैयद अकबरुद्दीन ने ट्विटर पर लिखा, "देवयानी खोब्रागड़े के पास पूर्ण राजनयिक छूट सहित जी1 वीजा है और वह विमान से भारत लौट रही हैं."

अमेरिका में कथित वीजा धोखाधड़ी के आरोप में देवयानी की गिरफ्तारी और उनकी गहन तलाशी लिए जाने के बाद से भारत और अमेरिका के रिश्तों में तनाव पैदा हो गया है.

अमेरिका के ग्रैंड जूरी ने गुरुवार को 39 वर्षीया भारतीय राजनयिक को औपचारिक रूप से मामले में आरोपित किया. हालांकि अभियोजन पक्ष ने कहा कि देवयानी को राजनयिक छूट प्रदान किया गया है. इसके बाद अमेरिकी अधिकारियों ने उन्हें देश छोड़ने के लिए कह दिया.

मामले की सुनवाई के बाद देवयानी के वकील डेनियल अरशैक ने एक बयान में कहा, "देवयानी स्वदेश वापसी को लेकर खुश हैं. उनका सिर अब भी ऊंचा है. उन्हें मालूम है कि उन्होंने कोई भी गलत काम नहीं किया है और वह सच सामने लाने के लिए उत्सुक हैं."

देवयानी द्वारा अपने ऊपर लगे आरोपों से इंकार करने के बाद भारत ने अमेरिका से मांग की थी कि वह देवयानी खोब्रागड़े पर लगाए गए आरोप वापस ले और इस कृत्य के लिए बिना शर्त माफी मांगे. लेकिन अमेरिका ने ऐसा करने से इंकार कर दिया, जिसके चलते दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण हो गए हैं.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in