पहला पन्ना >मुद्दा >दिल्ली Print | Share This  

सुनंदा पुष्कर के शरीर पर चोट के निशान

सुनंदा पुष्कर के शरीर पर चोट के निशान

नई दिल्ली. 18 जनवरी 2014

सुनंदा पुष्कर


केंद्रीय मानव संसाधन राज्यमंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की संदेहास्पद मौत को लेकर डाक्टरों ने कहा है कि सुनंदा के शव पर चोट के निशान थे. एम्स के फॉरेंसिक मेडिसिन डिपार्टमेंट के हेड डॉ सुधीर गुप्ता के नेतृत्व में तीन डॉक्टरों के बोर्ड ने पोस्टमॉर्टम किया था. हालांकि डाक्टरों ने सुनंदा के शरीर में किसी भी तरह का ज़हर पाये जाने से इंकार किया है.

गौरतलब है कि शुक्रवार रात सुनंदा पुष्कर थरूर संदिग्ध परिस्थितियों में नई दिल्ली के होटेल लीला के एक कमरे में मृत पाई गई थीं. राजनयिक से राजनीतिज्ञ बने केंद्रीय मंत्री शशि थरूर से उन्होंने तीन साल पहले विवाह रचाया था. पिछले कुछ दिनों से दोनों के रिश्ते में दरार की खबरें भी आ रही थीं. पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार से थरूर के कथित अफेयर को लेकर सुनंदा नाराज बताई जा रही थीं.

सुनंदा ने शक के आधार पर थरूर के ट्विटर अकाउंट से मेहर के लिए मोहब्बत भरे मेसेज ट्वीट किए थे. जब मामला चर्चा में आया तो थरूर ने इसके लिए अपना ट्विटर अकाउंट हैक किए जाने और उससे इस तरह के मेसेज भेजे जाने की बात कही, लेकिन सुनंदा साफ किया था कि वह थरूर के अकाउंट से ट्वीट कर रही थीं. सुनंदा ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में भी थरूर पर गंभीर आरोप लगाए थे और उन्हें बेवफा ठहराने में कोई कसर नहीं छोड़ी. गुरुवार रात ही दोनों ने संयुक्त बयान जारी कर कहा था कि सब कुछ ठीक है और वे खुश हैं. हालांकि, सुनंदा की मौत से साफ हो गया कि सब कुछ ठीक नहीं था.

सुनंदा की मौत का पता पुलिस को शुक्रवार रात करीब नौ बजे तब चला जब थरूर के पर्सनल सेक्रेटरी अभिनव कुमार ने टेलिफोन पर पुलिस कंट्रोल रूम को घटना की सूचना दी. कुछ ही मिनटों में सरोजिनी नगर की पुलिस और आला अधिकारी होटेल पहुंच गए और उन्होंने कमरा नंबर 345 समेत आसपास के इलाके को अपने घेरे में ले लिया. लाश के आसपास के जो हालात पाए गए हैं, उनसे पुलिस को मामला खुदकुशी का लग रहा है. दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता राजन भगत के अनुसार घटना की जांच एसडीएम के द्वारा की जाएगी. शादी के सात साल के भीतर हुई महिला की असामान्य मौत के मामले की जांच नियमानुसार मैजिस्ट्रेट के द्वारा की जाती है.

अभिनव के अनुसार, अपने बंगले 97, लोधी एस्टेट में रंगाई-पुताई का काम चलने की वजह से थरूर और सुनंदा गुरुवार से होटेल में रुके थे. सुनंदा की तबीयत गुरुवार सुबह से खराब थी. शुक्रवार को थरूर अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के अधिवेशन में शामिल होने के लिए तालकटोरा स्टेडियम में थे. वह रात करीब साढ़े आठ बजे लौटे तो होटेल के रूम का दरवाजा सटा हुआ था. उन्होंने दरवाजा खोलकर देखा तो सुनंदा को मृत पाया. तब थरूर ने फोन करके अभिनव को मौके पर बुलाया. उन्होंने पाया कि सुनंदा का शव रजाई के अंदर अकड़ा पड़ा था और उन्होंने नाइटी पहनी हुई थी.

इससे पहले शनिवार तड़के शशि थरूर की तबीयत अचानक बिगड़ गई. सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें एम्स के आईसीयू में भर्ती कराया गया. अस्पताल सूत्रों के अनुसार, उनकी हालत स्थिर होने के बाद पहले उन्हें जनरल वॉर्ड में शिफ्ट किया गया और बाद में छुट्टी दे दी गई.