पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

सुनंदा की मौत में थरुर जिम्मेवार नहीं

सुनंदा की मौत में थरुर जिम्मेवार नहीं

नई दिल्ली. 24 जनवरी 2014

सुनंदा पुष्कर


सुनंदा पुष्कर की मौत के मामले में जांच अधिकारी एसडीएम द्वारा सुनंदा के पति केंद्रीय मंत्री शशि थरुर को क्लिन चिट मिलने की खबर है. असल में अब सारा मामला इस बात पर टिक गया है कि सुनंदा पुष्कर की मौत दवाओं के ओवरडोज़ के कारण तो नहीं हुई.

इससे पहले पुलिस ने कहा था कि सुनंदा पुष्कर की मौत जहर से हुई है. पुष्कर की मौत की जांच कर रहे एसडीएम आलोक शर्मा ने पुलिस से विषाक्तता का कारण पता करने और जांच में यह सुनिश्चित करने के लिए कहा था कि यह हत्या का मामला है या आत्महत्या का. एसडीएम का कहना था कि विसरा रिपोर्ट आने के पहले यह कहना जल्दबाजी होगी कि उन्होंने जहर खाया था या जो दवाएं उन्होंने ली, उसी ने जहर का काम कर दिया.

पुलिस सूत्रों के अनुसार सोमवार को एसडीएम को पोस्टमार्टम रिपोर्ट सौंप दी गई, जिसमें कहा गया है कि तय से ज्यादा मात्रा में दवा लेने के कारण सुनंदा की मौत हुई. इससे पहले सुधीर के. गुप्ता के नेतृत्व में तीन सदस्यीय दल ने पोस्टमार्टम किया. शुक्रवार को सुनंदा एक होटल में मृत पाई गई थी. पुलिस को जांच के दौरान सुनंदा के कमरे से अल्प्रैक्स के स्ट्रिप मिले थे.

इधर सुनंदा पुष्कर के बेटे शिव मेनन ने अपने बयान में कहा था कि उनकी मां सुनंदा पुष्कर एक मजबूत दिल की महिला थी. उनकी मां इतनी मजबूत थी कि वह खुदकुशी किसी भी सूरते हाल में नहीं कर सकती थी. शिव ने कहा कि जो भी मेरी मां के बारे में जानता होगा उसे यह भी पता होगा कि वह अपनी जान खुदकुशी के जरिए नहीं दे सकती थी क्योंकि उन्हें अपने जीवन से बेहद लगाव था.

शिव मेनन ने कहा कि मेरे पिता शशि थरूर मेरी मां की मौत के लिए जिम्मेदार नहीं है. शिव ने कहा कि शशि थरूर ने कभी भी मेरी मां के साथ मारपीट नहीं की. हां उनके बीच थोड़े मतभेद थे लेकिन वह दोनों एक दूसरे से बेहद प्यार करते थे. ऐसे में इस मौत के लिये उन्हें जिम्मेवार ठहराना गलत है.

अब एसडीएम ने भी शशि थरुर को क्लिनचिट दे दिया है, ऐसा दावा किया जा रहा है. जिन दवाओं के ओवरडोज से मौत की बात कही जा रही है, उसको लेकर भी कुछ चिकित्सकों ने संदेह व्यक्त किया है.