पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

मोदी सरकार दंगों में शामिल-राहुल गांधी

मोदी सरकार दंगों में शामिल-राहुल गांधी

नई दिल्ली. 28 जनवरी 2014

राहुल गांधी


कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि 2002 के गुजरात दंगों में मोदी की सरकार शामिल थी, जबकि 1984 के सिख दंगों को सरकार ने रोकने की कोशिश की थी. उन्होंने कहा कि जब गुजरात में दंगे हो रहे थे, तब वहां की सरकार तमाशबीन बनी दंगों को देख रही थी.

एक चैनल पर दिये गये साक्षात्कार में राहुल गांधी ने कहा कि 2002 गुजरात में उस समय दंगे हुए जब नरेंद्र मोदी राज्य के मुखिया थे. ऐसे में गुजरात सरकार कहीं न कहीं दंगों में शामिल थी. राहुल ने कहा कि जिस वक्त दंगे हो रहे थे उस वक्त गुजरात सरकार ने दंगाइयों को रोकने की कोशिश तक नहीं की और तमाशबीन बनी दंगों को देखती रही. उन्होंने कहा कि 1984 के दंगे काफी दुखद थे और तत्कालीन सरकार ने दंगों को रोकने की पूरी कोशिश की.

उन्होंने कहा कि जिस वक्त सिख दंगे हुए थे उस वक्त वो बहुत छोटे थे और इस पूरे मामले में उनकी कोई जिम्मेदारी नहीं बनती. राहुल ने कहा कि वो सिख समुदाय के लोगों का सम्मान करते हैं. राहुल ने ये जोड़ा कि कांग्रेस के प्रधानमंत्री खुद एक सिख हैं. हालांकि राहुल ने माना कि कुछ कांग्रेसी नेता भी दंगों के लिए जिम्मेदार थे. लेकिन साथ में ये भी जोड़ा कि उनके मामले में कानून अपना काम कर रहा है.

राहुल गांधी ने कहा कि आम आदमी पार्टी से काफी कुछ सीखा जा सकता है. राहुल गांधी ने आम आदमी पार्टी की प्रशंसा की.

अपने को प्रधानमंत्री बनाये जाने संबंधी सवाल को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस में प्रधानमंत्री को सांसद चुनते हैं और पार्टी उन्हें जो भी जिम्मेदारी देगी वो उसे बखूबी निभाने के लिए तैयार हैं. उन्होंने कहा कि यह सवाल समझने के लिए, आपको कुछ समझना पड़ेगा, राहुल गांधी कौन हैं और फिर इस सवाल का आपको उत्तर मिलेगा कि राहुल गांधी किससे डरते हैं और किससे नहीं.राहुल गांधी ने कहा कि भाजपा सत्ता को एक व्यक्ति के पास केंद्रित करने में विश्वास रखती है. मैं इससे मौलिक रूप से असहमत हूं. मैं लोकतंत्र में विश्वास रखता हूं.

राहुल गांधी ने कहा कि हमारी पार्टी की रणनीति साफ है. हमने जो कुछ पिछले पांच-दस सालों में किया है और जैसे लोगों को अधिकार दिए हैं, उसको आप आजादी के आंदोलन से अब तक जोड़ सकते हैं. हमने किसानों को हरित क्रांति दी. लोगों को टेलिकॉम क्रांति दी. सूचना का अधिकार दिया. जो चीजें बंद होती थीं, जिनके बारे में कोई नहीं जानता था. उनके बारे में अब लोग जान सकते हैं.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in