पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

पत्नी के इंटरव्यू पर मोदी चुप

पत्नी के इंटरव्यू पर मोदी चुप

अहमदाबाद. 1 फरवरी 2014

नरेंद्र मोदी


बात-बात पर ट्वीट करने वाले और फटाफट जवाब देने वाले नरेंद्र मोदी अपनी पत्नी जशोदा बेन के इंटरव्यू पर चुप्पी साधे हुये हैं. अपने को नरेंद्र मोदी की पत्नी बताने वाली जशोदा बेन ने अपने जीवन के कई राज एक साक्षात्कार में साझा किये हैं. लेकिन अपने वैवाहिक जीवन को लेकर चुप रहने वाले नरेंद्र मोदी इस साक्षात्कार पर चुप हैं.

भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदा बेन का कहना है कि उन्हें इस बात का भरोसा है कि नरेंद्र मोदी एक दिन प्रधानमंत्री बनेंगे. एक स्कूल से सेवानिवृत शिक्षक जशोदा बेन के पास ढेर सारी यादें हैं लेकिन उन्हें उन बीते हुये दिनों से कोई शिकायत नहीं है. नरेंद्र मोदी से अलग होने के जशोदा बेन इन दिनों अपने भाई अशोक मोदी के साथ रहती हैं, जहां उनका अधिकांश समय पढ़ने-लिखने और पूजा-पाठ में गुजरता है.

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस को दिये एक साक्षात्कार में वे बताती हैं कि "नरेंद्र मोदी से मेरी शादी 17 साल की उम्र में हुई थी और इसके बाद मैंने अपनी पढ़ाई छोड़ दी, लेकिन वह चाहते थे कि मैं पढ़ाई पूरी करूं. अलग होने के बाद हमारे बीच कभी संपर्क नहीं रहा. हमारे बीच कभी झगड़ा नहीं हुआ था. हमारी शादी तीन साल चली और इस दौरान हम केवल तीन महीने ही साथ रहे.

पुराने दिनों को याद करती हुई जशोदा बेन कहती हैं- "एक बार उन्होंने मुझसे कहा था कि मैं पूरे देश के भ्रमण पर निकलूंगा और जहां अच्छा लगेगा जाऊंगा, तुम मेरे साथ चलकर क्या करोगी? जब मैं अपने ससुराल वडनगर गई तो उन्होंने कहा कि तुम खुद इतनी छोटी हो ससुराल क्यों आ गई, तुम्हें अपनी पढ़ाई पर ध्यान देना चाहिए. अलग होने का फैसला मेरा था और हमारे बीच कभी विवाद नहीं हुआ. उन्होंने मुझसे कभी भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ या राजनीतिक रुझान के बारे में बात नहीं की. कई बार जब मैं ससुराल जाती थी, तो उन्हें वहां नहीं पाती थी. बाद में उन्होंने घर आना बंद कर दिया और संघ के प्रचार पर निकल गए. कुछ वक्त के बाद मैंने भी वहां जाना बंद कर दिया और अपने पिता के घर पर रहने लगी."

नरेंद्र मोदी से अलग होने के बाद फिर शादी क्यों नहीं की, इश सवाल के जवाब में जशोदा बेन का कहना था कि शादी के इस अनुभव के बाद मैं शादी नहीं करना चाहती थी. मेरा दिल इसे मानने के लिए तैयार नहीं था. जशोदा बेन का कहना था- 'मेरे ससुराल वाले मेरे साथ अच्छा व्यवहार करते थे. मैंने फिर से पढ़ाई शुरू कर दी. इसमें मेरे पिता और भाई ने मदद की.'

यह पूछे जाने पर कि क्या आप कानूनी रूप से अभी भी मोदी की पत्नी हैं? जशोदा बेन का जवाब था- "हर बार जब उनका नाम लिया जाता है, तो वहां मेरा भी कहीं ना कहीं जिक्र होता है. आप भी मुझे ढूंढते हुए मेरे पास आए हो. अगर मैं उनकी पत्नी नहीं होती तो आप मुझसे क्यों बात करते?"

जशोदा बेन नरेंद्र मोदी की हर खबर से बाखबर रहती हैं. वे कहती हैं कि उन्हें मोदी के प्रधानमंत्री बनने की खबर पढ़कर अच्छा लग रहा है और उन्हें भरोसा है कि एक दिन वह जरुर भारत के प्रधानमंत्री बनेंगे. वे कहती हैं- "जो भी संभव होता है, मैं पढ़ती हूं. मैं अखबार के सारे आर्टिकल्स पढ़ती हूं और टेलिविजन पर न्यूज देखती हूं. उनके बारे में पढ़ना मुझे अच्छा लगता है."

मोदी के साथ भविष्य के रिश्ते को लेकर वे कहती हैं-"हम दोनों का आपस में कोई संपर्क नहीं रहा और मुझे नहीं लगता कि वह मुझे कभी कॉल करेंगे. मैं जो भी कह रही हूं उससे मेरा इरादा उन्हें नुकसान पहुंचाने का नहीं है. मैं तो केवल इतना चाहती हूं कि वह जो भी कर रहे हैं उसमें आगे बढ़े. मुझे पता है कि वह एक दिन पीएम जरूर बनेंगे."

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

pankaj singhai [pankajsinghaisagar@gmail.com] sagar m.p - 2014-02-03 07:44:13

 
  सैर कर दुनिया की गाफिल जिन्दगानी फिर कहाँ - जिदंगी गर कुछ रही तो नोजवानी फिर कहाँ !अथातो घुमक्कड़ जिज्ञासा राहुल संकृत्यायन 
   
 

cbsingh [sunilcbsingh@gmail.com] New Delhi - 2014-02-02 07:24:51

 
  मैं नमस्कार करता हूं, मुझे बहुत अच्छा लगा ये न्यूज़ पढ़ कर. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in