पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

शाह फंसते तो यूपीए खुश होती: सिन्हा

शाह फंसते तो यूपीए खुश होती: सिन्हा

नई दिल्ली. 8 फरवरी 2013

रंजीत सिन्हा


सीबीआई प्रमुख रंजीत सिन्हा ने कहा है कि अगर इशरत जहां एनकाउंटर मामले में नरेंद्र मोदी के करीबी अमित शाह का नाम आता तो यूपीए उस से खुश होती. हालांकि चुनावी साल में ऐसे विवादास्पद बयान से मचे बवाल के बाद सिन्हा ने कहा है कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है. उन्होंने यह भी कहा है कि सीबीआई अपना काम पूरी निष्पक्षता से कर रही है.

एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक उसे दिए गए एक साक्षात्कार में सिन्हा ने कहा है कि ‘इस मामले में कई राजनीतिक उम्मीदें थीं. अगर हम अमित शाह को चार्जशीट कर देते तो यूपीए सरकार बहुत खुश होती. लेकिन हम प्रमाणों पर गए और पाया कि शाह के खिलाफ कोई ऐसा प्रमाण नहीं है, जिससे उन पर मुकदमा चलाया जा सके.’

गौरतलब है कि इससे पहले शुक्रवार को सीबीआई ने इशरत जहां फर्जी एनकाउंटर मामले में चार्जशीट दाखिल कर इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के पूर्व निदेशक राजिंदर कुमार और आईबी के तीन मौजूदा अधिकारियों को दोषी करार दिया है.

अखबार के अनुसार यह पूछे जाने परे कि कुछ गवाहों के कहे अनुसार अमित शाह पर आरोप क्यों नहीं लगाया गया सिन्हा ने कहा कि इस मामले में उन पर संदेह तो है, लेकिन कोई प्रमाण नहीं है. उन्होंने यह भी बताया कि इस मामले में शाह से पूछताछ हो चुकी है.