पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >अंतराष्ट्रीय > Print | Share This  

मलेशियाई विमान का कोई सुराग नहीं

मलेशियाई विमान का कोई सुराग नहीं

कुआलालंपुर. 10 मार्च 2014

विमान


मलेशिया से बीजिंग के लिए उड़ान भरने वाले मलेशियाई एयरलाइंस के लापता विमान का तीसरे दिन सोमवार को भी कोई सुराग नहीं मिल पाया. इस बीच अंतर्राष्ट्रीय जांच दल ने अपना तलाशी अभियान तेज कर दिया है. उधर, मलेशियाई अधिकारियों ने कहा कि जाली पासपोर्ट पर विमान में सवार होने वाले दो लोग दिखने से एशियाई नहीं प्रतीत होते. कार्यवाहक परिवहन मंत्री हिसामुद्दीन हुसैन ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, "अभी हमारा मुख्य जोर विमान की तलाशी पर है."

इस बीच अंतर्राष्ट्रीय टीम ने अपने तलाशी अभियान दायरा बढ़ाकर अंडमान समुद्र से लेकर थाईलैंड की खाड़ी और दक्षिण चीन सागर तक कर दिया है. हुसैन ने कहा कि व्यापक तलाशी अभियान में अमेरिका, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड का भी सहयोग मिल रहा है.

मलेशिया एयरलाइंस का विमान एमएच 370 जिसमें 239 लोग सवार थे, शनिवार रात मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर से बीजिंग के लिए उड़ान भरी थी. लेकिन वियतनाम के हो ची मिन्ह हवाई क्षेत्र से गुजरते हुए उसका हवाई यातायात नियंत्रण कक्ष से संपर्क टूट गया, जिसके बाद से विमान का कुछ पता नहीं चल पा रहा है. ऐसा माना जा रहा है कि विमान वियतनाम तट पर दक्षिण चीन सागर में दुर्घटनाग्रस्त हो गया होगा.

इससे पहले मलेशिया के नागरिक उड्डयन विभाग के महानिदेशक अजहरुद्दीन अब्दुल रहमान ने सोमवार को कहा कि समुद्र में खोज के दौरान कुछ मलबा मिला है लेकिन यह बीजिंग के लिए रवाना हुए मलेशिया एयरलाइंस विमान का है, इसकी पुष्टि नहीं हुई है.

रहमान ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, "खोजी दल को अब तक कोई ऐसी चीज नहीं मिली है, जिससे कहा जा सके कि विमान समुद्र में डूबा है."

उन्होंने कहा कि इस समय विभिन्न देशों के 34 विमान और 40 जलयान बड़े दायरे में तलाश और बचाव कार्य में जुटे हुए हैं. विमान के तलाशी अभियान में चीन, मलेशिया, सिंगापुर, इंडोनेशिया, अमेरिका, थाईलैंड, आस्ट्रेलिया और फिलिपींस भागीदारी कर रहे हैं.

मलेशियाई अधिकारियों ने संदेह जताया है कि विमान को गायब करने में अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादियों का हाथ हो सकता है. इसमें उन लोगों की संलिप्तता हो सकती है जिन्होंने लापता विमान में सवार कुछ यात्रियों के फर्जी और अवैध पासपोर्ट होने की खबर दी.

ज्ञात हो कि दो यूरोपीय नागरिक जिनकी पहचान मलेशियाई विमान के फर्जी यात्रियों के रूप में की गई, कथित रूप से उनके पासपोर्ट थाईलैंड में खो गए थे. कयास लगाया जा रहा है कि कुछ अन्य यात्रियों ने अवैध पासपोर्ट का इस्तेमाल किया होगा.

मलेशियाई एयरलाइंस के विमान ने शनिवार की रात 12.41 बजे कुलाआलंपुर से उड़ान भरी थी. उसे सुबह 6.30 बजे बीजिंग में उतरना था. विमान में चालक दल के 12 सदस्यों के साथ 14 देशों के 227 यात्री सवार थे. इनमें 154 चीनी नागरिक थे और भारत के पांच यात्री सहित मलेशिया के 38 लोग सवार थे.

 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in