पहला पन्ना >राज्य >महाराष्ट्र Print | Share This  

शक्ति मिल गैंगरेप: 3 आरोपी दोषी करार

शक्ति मिल गैंगरेप: 3 आरोपी दोषी करार

मुंबई. 3 अप्रैल 2014

गैगरेप


मुंबई की एक अदालत ने गुरुवार को शक्ति मिल कांप्लेक्स में एक फोटो पत्रकार और एक कॉलसेंटर कर्मी के साथ सामूहिक दुष्कर्म के लिए तीन आरोपियों को दोषी करार दिया.

प्रधान सत्र न्यायाधीश शालिनी फंसाल्कर-जोशी ने आरोपी विजय जाधव (20), कासिम हाफिज शेख उर्फ कासिम बंगाली (20) और सलीम अंसारी (27) को दोषी करार दिया. तीनों आरोपी भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 (ई) के तहत 31 जुलाई और 22 अगस्त 2013 के सामूहिक दुष्कर्म कांड के दोषी पाए गए.

तीनों दोषियों के सजा की अवधि शुक्रवार को घोषित की जाएगी. आईपीसी की संशोधित धारा 376 (ई) के तहत दोषियों को मौत की सजा भी हो सकती है.

इससे पहले तीनों दोषियों को एक 18 वर्षीय कॉलसेंटर कर्मी के साथ 31 जुलाई, 2013 को सामूहिक दुष्कर्म के अपराध में मृत होने तक आजीवन कारावास की सजा सुनाई जा चुकी है. तीनों अपराधियों ने कुछ ही दिन बाद 22 अगस्त, 2013 को फिर से निर्जन पड़े शक्ति मिल कांप्लेक्स में एक महिला फोटो पत्रकार के साथ भी सामूहिक दुष्कर्म किया.

तीनों अपराधियों ने अपने ऊपर लगाए गए आईपीसी की धारा 376 (ई) को बंबई उच्च न्यायालय में चुनौती दी थी, लेकिन उच्च न्यायालय ने सत्र न्यायालय के फैसले में हस्तक्षेप करने से इनकार कर दिया था.

पिछले महीने चारो आरोपियों, जाधव, बंगाली, अंसारी और उनके सहयोगी 26 वर्षीय एम. अशफाक शेख को कालसेंटर कर्मी के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में मृत होने तक आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी.

बाद में अभियोजन पक्ष ने तीन दोषियों, जाधव, बंगाली और अंसारी के खिलाफ और बार-बार अपराध किए जाने का अतिरिक्त आरोप लगाया. ये तीनों सजायाफ्ता अपराधी शक्ति मिल कांप्लेक्स में फोटो पत्रकार के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में भी आरोपी थे.

दोनों मामलों में से प्रत्येक में एक-एक अपराधी नाबालिग है, जिनके खिलाफ मुंबई किशोर न्याय बोर्ड में मुकदमा चल रहा है, तथा उनके मामले की सुनवाई इसी महीने शुरू की जाएगी.