पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
 पहला पन्ना > राजनीति > दिल्ली Print | Send to Friend | Share This 

ममता भरे तोहफे, नहीं बढ़ेगा रेल भाड़ा

ममता भरे तोहफे, नहीं बढ़ेगा रेल भाड़ा

नई दिल्ली. 24 फरवरी 2010


रेल मंत्री ममता बनर्जी द्वारा लोकसभा में पेश रेल बजट 2010-11 में यात्री किराए में कोई वृद्धि नहीं की गई है. ममता ने बुधवार को कहा कि उनका ध्यान रेलवे की कमाई से ज़्यादा सामाजिक ज़िम्मेदारियों पर है. रेल बजट में यात्री किराए में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है. माल भाड़ा भी नहीं बढ़ाया गया. ई टिकटिंग पर लगने वाला चार्ज घटाया गया है. यात्रियों को सस्ता रेल नीर उपलब्ध कराने की ओर कदम बढ़ाए हैं. ममता बनर्जी ने बांग्लादेश से रेलवे लिंक जोड़ने का भी ऐलान किया है.

रेल बजट में आने वाले सात महीनों में 99 नई ट्रेनों का ऐलान किया गया है. इनमें दस नई दुरंतो ट्रेन भी शामिल हैं. ममता ने रेलवे को एक नया नारा दिया है- मातृभूमि, जन्मभूमि, कर्मभूमि और भारत तीर्थ. ममता ने इन नामों से नई ट्रेनों को शुरु करने का ऐलान किया है. मातृभूमि ट्रेन खास महिलाओं के लिए है. इस नाम से 20 ट्रेने चलेंगी. जन्मभूमि ट्रेने वर्दीधारी सैनिकों की सुविधा के लिए बनाई गई है. ये अहमदाबाद से ऊधमपुर के बीच चलेगी. ये साप्ताहिक ट्रेन है.

कर्मभूमि नाम की ट्रेन पश्चिम बंगाल, बिहार और पंजाब के बीच चलेगी. इनकी संख्या 3 है. ये ट्रेनें अनारक्षित हैं और गरीब तबके के लिए चलाई गई हैं. जबकि भारत तीर्थ नाम से चलाई जा रही नई ट्रेनें पूरे देश को जोड़ेंगी. ये हिमाचल से कन्याकुमारी तक चलेंगी. ये खास तौर से पर्यटन स्थल के लिए हैं. इनकी संख्या 16 है.

इसके अलावा अपने बजट में ममता बनर्जी ने मुंबई के उपनगरीय इलाकों के लिए 101 नई लोकल का ऐलान किया है. बोरवली से कोंकण नई रेललाइन पर भी विचार होगा. रेलवे की सुरक्षा के सवाल को उन्होंने राज्य सरकारों की जिम्मेवारी बताते हुए इसे और दुरुस्त करने के लिए पूर्व सैनिकों को आरपीएफ में भर्ती करने की घोषणा की. रेल मंत्री ने कहा कि उनकी योजना 6 नए बॉटलिंग प्लांट स्थापित करने की है. ये प्लांट अंबाला, फरक्का, अमेठी और नासिक में लगेंगे. उन्होंने रायबरेली में कोच फैक्टरी को साल भर के अंदर शुरू करने का वादा ममता ने दोहराया.

ममता ने दो रेलवे म्यूजियम की घोषणा की. ये दोनों रेलवे म्यूजिम पश्चिम बंगाल के हावड़ा और बोलपुर में होंगे और इनका नाम होगा टैगोर और उनको नोबल पुरस्कार दिलाने वाली रचना के नाम पर रवींद्र और गीतांजलि म्यूजिम. रेल मंत्री ने जमीन उपलब्ध होने पर पश्चिम बंगाल में डीजल मल्टीपल यूनिट फैक्ट्री बनाने का भी ऐलान किया. किसी समय सिंगूर की विलेन ठहराई गईं ममता ने ससंद में कहा कि जमीन मिलने पर सिंगूर में कोच फैक्ट्री खुलेगी.

उन्होंने वादा किया कि रेलवे जिन लोगों की जमीन का अधिग्रहण करेगी, उसके परिवार के एक सदस्य को रेलवे में नौकरी दी जाएगी. उन्होंने दिल्ली, सिकंदराबाद, चेन्नई, कोलकाता और मुंबई में 5 नई स्पोर्ट्स अकेडमी बनाने का भी ऐलान किया.


[an error occurred while processing this directive]
 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in