पहला पन्ना >व्यापार > Print | Share This  

जमानत के लिए सहारा का नया प्रस्ताव

जमानत के लिए सहारा का नया प्रस्ताव

नई दिल्ली. 21 अप्रैल 2014

subrato roy sahara


सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत राय ने सोमवार को सर्वोच्च न्यायालय के समक्ष अपनी जमानत के लिए एक नया प्रस्ताव रखा.

इस प्रस्ताव के अनुसार सुब्रत रॉय न्यायिक हिरासत से रिहा किए जाने के तीन दिनों के भीतर वह 3,000 करोड़ रुपये जमा कर देंगे और शेष 2,000 करोड़ रुपये 30 मई से पहले जमा कर देंगे. राय के वकील राजीव धवन ने कहा कि शेष 5,000 करोड़ रुपये की बैंक गारंटी 30 जून तक जमा कर दी जाएगी.

इस प्रस्ताव को रखने के साथ ही राय ने समूह की कंपनी एसआईआरईसीएल और एसएचआईसीएल तथा कुछ संपत्तियों से संबंधित कुछ खातों पर से रोक हटाने की भी मांग की.

सहारा ने कहा कि यदि अदालत उनके प्रस्ताव को आज ही स्वीकार कर उन्हें रिहा कर देती है, तो 25 अप्रैल तक 3,000 करोड़ रुपये जमा कर दिए जाएंगे.

न्यायमूर्ति के.एस. राधाकृष्णन की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने 26 मार्च के आदेश में राय को 10,000 करोड़ रुपये जमा करने को कहा था. इस आदेश के तहत उनकी और उनके समूह की कंपनियों के दो अन्य निदेशकों की न्यायिक हिरासत से रिहाई के लिए उन्हें 5,000 करोड़ रुपये की नकदी और शेष 5,000 करोड़ रुपये के लिए किसी राष्ट्रीयकृत बैंक की बैंक गारंटी जमा करनी है.