पहला पन्ना >व्यापार >समाज Print | Share This  

चीन में अश्लील वेबसाइटों पर लगाम

चीन में अश्लील वेबसाइटों पर लगाम

बीजिंग. 22 अप्रैल 2014

अश्लील वेबसाइट


सेक्स और पोर्न साइटों पर रोक लगाने के लिये चीन ने अब कमर कस ली है. पिछले दो दिनों में चीन की सरकार ने सौ से अधिक पोर्न साइटों पर प्रतिबंध लगा दिया है. इसके अलावा सरकार ने उन सोशल साइटों पर भी रोक लगा दी है, जो कहीं न कहीं सेक्स के खुलेपन या देह व्यापार को बढ़ावा देने का काम कर रहे थे.

चीन सरकार ने इन दिनों क्लीनिंग द वेब 2014 नाम से एक अभियान चला रखा है. सरकार का कहना है कि इस अभियान के तहत ऐसी तमाम चीजों को इंटरनेट पर प्रतिबंधित किया जाएगा, जिनकी वजह से देश में यौन दुर्व्यवहार की घटनाएं बढ़ रही हैं और जो सामग्री किशोर व युवा मन को प्रभावित कर रही है.

गौरतलब है कि सर्वाधिक इंटरनेट यूजर वाले देश चीन में पोर्नोग्राफी पर प्रतिबंध है लेकिन इंटरनेट की दुनिया में सह कुछ बेखौफ चल रहा है. इसके लिये सरकार ने बजाप्ता एक बैठक बुलाई और ऐसी वेबसाइटों पर प्रतिबंध लगाना शुरु कर दिया. जिन साइटों पर प्रतिबंध लगाया गया है, उनकी संख्या चार सौ से अधिक है. इसके अलावा स्थानीय अदालतों ने भी इस तरह की साइट चलाने वालों पर लगाम लगाना शुरु कर दिया है.

भारत में भी इस तरह की कोशिश अदालत के निर्देश के बाद शुरु की गई थी. लेकिन सरकार ने यह कहते हुये हाथ खड़े कर दिये थे कि इनके सर्वर विदेश में हैं. हालांकि पिछले साल जून में 39 पोर्न साइटों पर बैन लगा दिया था. दूरसंचार विभाग ने जिन वेबसाइटों को प्रतिबंधित किया है, वे साइटें विदेशों से होस्टेड थी और अमरीकी कानून की धारा 18 यूएससी 2257 के तहत संचालित होती थी. इसके बाद कई वेब साइटों पर प्रतिबंध की बात कही गई लेकिन मामला अटका रहा.