पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >व्यापार >दिल्ली Print | Share This  

कोक-पेप्सी हटाएंगे ज़हर

कोक-पेप्सी हटाएंगे ज़हर

न्यूयार्क. 7 मई 2014

कोक पेप्सिको


कोकाकोला और पेप्सिको ने दावा किया है कि वे अफने पेय पदार्थ से ब्रोमिनेटेड वेजिटेबल ऑयल हटा देंगी. अमरीका में इसे 1970 से ही हटा दिया गया था. लेकिन दुनिया के तमाम देशों में पेय पदार्थों में इस ज़हर का इस्तेमाल जारी था. ब्रोमिनेटेड वेजिटेबल ऑयल में ब्रोमाइड पाया जाता है. रिसर्चरों का कहना है कि बीवीओ वाले ड्रिंक्स के ज्यादा इस्तेमाल से याददाश्त खत्म होना, त्वचा रोग और तंत्रिका तंत्र से संबंधित समस्यायें हो सकती हैं.

इस मामले में एक ऑनलाइन याचिका दायर करते हुये कहा गया था कि पेप्सिको के स्पोर्ट्स ड्रिंक गैटोरेड और कोका कोला के पावरएड से वीबीओ हटाया जाये. इन दोनों पदार्थों को आग बुझाने वाले पदार्थ के तौर पर पेटेंट कराया गया था. लेकिन प्यास बुझाने का दावा करने वाली कंपनियां धडल्ले से इन दोनों पदार्थों का इस्तेमाल कर रही थी.

इस याचिका के बाद पेप्सी के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी की बीवीओ का इस्तेमाल रोकने की बड़ी योजना है और हम इसे अपने प्रॉडक्ट्स से हटाने की योजना पर सक्रिय रूप से काम कर रहे हैं. पेप्सी बीवीओ का इस्तेमाल अपने माउंटेन डियू और एम्प एनर्जी ड्रिंक जैसे प्रॉडक्ट्स को बनाने में करती है. कोक के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि इस पदार्थ को हटाना कोई सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा नहीं है. हमारे सभी पेय पदार्थ जिनमें बीवीओ है, वे सुरक्षित हैं और हमेशा रहेंगे.

हालांकि इस कंपनी ने अपने पेय पदार्थों को लेकर हुए शोध पर फिलहाल तो चुप्पी साध ली है.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in