पहला पन्ना >राजनीति >गुजरात Print | Share This  

आनंदी बेन फैसला लेंगी संघ नहीं

आनंदी बेन फैसला लेंगी संघ नहीं

अहमदाबाद. 22 मई 2014

आनंदी बेन


गुजरात की नई मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल का कहना है कि संघ के साथ मेरे क़रीबी रिश्ते न होने की बातें गलत हैं. मैं संघ के साथ जुड़ी हुई हूं. मगर मैंने कैंपस नहीं किए और न ही विद्या भारती में गई हूं लेकिन जो संघ के विचार हैं वही मेरे विचार हैं. और संघ के किसी भी नेता से मैं दूर नहीं हूं. हालांकि उन्होंने इस बात से इंकार किया कि उनकी सरकार को कोई और रिमोट कंट्रोल से चलाएगा. उन्होंने कहा कि अब फ़ैसला हमें ही लेना है. संघ कहीं भी दख़लअंदाज़ी नहीं करता है.

आनंदी बेन ने एक रेडियो से बातचीत में कहा कि मैंने और अमित भाई ने सालों से साथ काम किया है और आगे भी करते रहेगें. वे गुजरात आए थे तब भी हम साथ में बैठे थे, चर्चा की थी. आनंदी बेन ने अमित शाह के साथ किसी भी तरह के विवाद से इंकार किया.

क्या नरेंद्र मोदी के बाद गुजरात की मुख्यमंत्री बनने को लेकर उनके अंदर किसी तरह की कोई घबराहट है, इसको लेकर आनंदी बेन ने कहा कि हमें गुजरात की प्रजा पर भरोसा है. संगठन पर भरोसा है. गुजरात के मंत्रीमंडल पर भरोसा है. सभी एमपी और एमएलए पर भरोसा है. हम सभी के अंदर गुजरात की सेवा करने का ही लक्ष्य है. इसलिए घबराहट के लिए यहां कोई जगह नहीं है.