पहला पन्ना >राजनीति >दिल्ली Print | Share This  

मोदी बताएं कैसे हैं केजरीवाल पाकिस्तानी एजेंट

मोदी बताएं कैसे हैं केजरीवाल पाकिस्तानी एजेंट

नई दिल्ली. 22 मई 2014

अरविंद केजरीवाल


जिस अदालती बांड को भरने से अरविंद केजरीवाल ने इंकार कर दिया, सिद्धांतों को किनारे करके उसी बांड को भर कर आम आदमी पार्टी के नेता योगेंद्र यादव और मनीष सिसोदिया रिहा हो गये. हालांकि माना जा रहा है कि उनकी यह लड़ाई प्रतीकात्मक थी और नेताओं का मानना है कि अगर सारे नेता जेल में रहेंगे तो सरकार के लिये दमनचक्र चलाना सरल हो जाएगा. ऐसे में दूसरे नेताओं का बांड भरना जायज है.

गौरतलब है कि भाजपा नेता नीतीन गडकरी की कथित मानहानि के मामले में अदालत ने जब उनसे 10 हज़ार रुपये का बांड भरने के लिये कहा तो उन्होंने इससे इंकार कर दिया. इसके बाद अदालत ने उन्हें 2 दिन के लिये जेल भेजने के निर्देश दिये. माना जा रहा है कि अरविंद केजरीवाल अपनी अगली पेशी पर भी किसी तरह का बांड शायद ही भरें. ऐसी स्थिति में जेल भेजने का फैसला सुनाने वाली अदालत का क्या रुख होगा, यह देखना अपने आप में दिलचस्प होगा.

हालांकि बांड भर कर बाहर निकले नेताओं ने अब प्रधानमंत्री बनने जा रहे नरेंद्र मोदी पर हमला बोल दिया है. आम आदमी पार्टी ने कहा है कि नीतीन गडकरी को चोर कहने पर उन्हें जेल भेजा जा रहा है लेकिन अब नरेंद्र मोदी को बताना पड़ेगा कि उनके पास अरविंद केजरीवाल को पाकिस्तानी एजेंट कहे जाने के क्या सबूत हैं. आम आदमी पार्टी के इस रुख के बाद नरेंद्र मोदी के लिये मुश्किलें बढ़ सकती हैं. खासतौर पर तब, जब अरविंद केजरीवाल इस पूरे मामले को अदालत तक ले जायें. एक चुनावी सभा के दौरान एके 47 और एके को एक जैसा कहते हुये नरेंद्र मोदी ने केजरीवाल पर कई गंभीर आरोप लगाये थे.

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने तिहाड़ जेल में अरविंद केजरीवाल से मुलाकात के बाद मीडिया से कहा कि नरेंद्र मोदी ने अरविंद केजरीवाल को पाकिस्तानी एजेंट कहा था, क्या उनके पास इसका कोई सबूत है? संजय सिंह ने इस बात से इंकार नहीं किया कि वे इस मुद्दे को लेकर हाईकोर्ट जा सकते हैं. अगर ऐसा हुआ तो नरेंद्र मोदी को भी अदालत में जवाब देना पड़ेगा कि उन्होंने केजरीवाल को किसी आधार पर पाकिस्तानी एजेंट कहा था.