पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >मुद्दा >अमरीका Print | Share This  

खुलेगा एलियन का रहस्य

खुलेगा एलियन का रहस्य

वाशिंगटन. 26 मई 2014

एलियन


क्या धरती करे अलावा भी कहीं जीवन है यानी कहीं एलीयंस का अस्तित्व है? इस सवाल के जवाब के लिये आपको भी 20 साल और प्रतीक्षा करनी पड़ सकती है. माना जा रहा है कि इन 20 सालों में वैज्ञानिक इस तथ्य की पड़ताल कर लेंगे कि धरती के अलावा दूसरे ग्रहों पर भी लोग रहते हैं.

हालांकि बड़ी संख्या में लोग मानते हैं कि अमरीका ने ऐसे कई जीवों को बंधक बना रखा है, जो समय-असमय पृथ्वी पर आये थे. इन एलीयंस को लेकर जितनी मुंह, उतनी चर्चायें हैं. ये और बात है कि अमरीका न तो ऐसी खबरों को सिरे से नकारता है और ना ही स्वीकारता है. वह बार-बार इसी बात का हवाला देता है कि इस पर शोध चल रहा है.

अब कैलीफोर्निया स्थित एसईटीआई संस्थान के वरिष्ठ खगोलविद सेथ शोस्ताक ने कहा है कि वे दूसरे ग्रहों पर जीवों के अस्तित्व को लेकर शोध के उस चरण में हैं, जहां अगले 20 सालों बाद इस बात से परदा हट सकता है कि एलियन है क्या बला और है भी या नहीं. अमरीकन सदन की विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी समिति के सामने सेथ शोस्ताक ने कहा कि हम अलग-अलग तरीकों से इस बात की जांच कर रहे हैं और हमारा अनुमान है कि मंगल और बाहरी सौर ग्रहों पर भी जीवन है.

इस मुद्दे पर भारतीय दार्शनिक प्रभात रंजन सरकार पहले भी दावा करते रहे हैं कि मनुष्य एक दिन दूसरे ग्रह पर जाकर बसेगा. उन्होंने अनेक अवसरों पर कहा है कि पृथ्वी के अलावा दूसरे ग्रहों पर भी जीवन है और वहां के जीव मानसिक रुप से मनुष्य की तुलना में कहीं अधिक उन्नत हैं.

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

Ajit Singh [ajitspankaj@gmail.com] Sonepat Haryana - 2014-05-26 05:39:59

 
  bhagwan shri krishan says that there are thousand of brahmand in our saurmandal like prithvi. So that it is possible that people also live there 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in