पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

हमारे सैनिक भी लांघते हैं सीमा: राजनाथ

हमारे सैनिक भी लांघते हैं सीमा: राजनाथ

नई दिल्ली. 17 जुलाई 2014

राजनाथ सिंह


गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भारतीय सीमा में चीनी घुसपैठ के मामले में कहा है कि ऐसे गलती से होता है और कई बार भारतीय जवान भी बॉर्डर लांघने की कोशिश करते हैं. राजनाथ सिंह ने ऐसी घटनाओं के पीछे दोनों देशों की सीमा पर वास्तविक स्थिति को लेकर संदेह को कारण बताया है.

गौरतलब है कि 15 जुलाई को लद्दाख के डेमचोक सेक्टर में चीनी सैनिक घुस आए थे और करीब आधे घंटे तक वहीं रुके. इसके बाद वहां मौजूद भारतीय सेना और आईटीबीपी के जवानों के कड़े विरोध के बाद उन्हें लौटना पड़ा. इससे पहले भी 13 जुलाई को चीनी सैनिक लद्दाख के चुमार में भारतीय सेना के अंदर घुस आए थे.

चीन द्वारा घुसपैठ एक ऐसे समय में हो रही है जब ब्रिक्स सम्मेलन में गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुलाकात चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच मुलाकात हो रही है. यहां प्रधानमंत्री मोदी ने चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग से दोनों देशों के बीच सौहार्दपूर्ण रिश्तों की बात की है.

बहरहाल एक ऐसे समय में जब चीन लगातार देश में घुसपैठ कर रहा हो और भारतीय क्षेत्र पर अपना हक बता रहा हो गृहमंत्री का चीनी सेना को घुसपैठ को भूलवश हुई गलती बताकर क्लीन चिट देना जरूर सियासी बवाल खड़ा कर सकता है.



 

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

mohammed [] mobin - 2014-07-17 12:44:21

 
  भई वाह क्या सफाई से जवाब दिया है. चीन ने तो कभी ऐसा नहीं कहा होगा. हाहाहा होम मिनिस्टर जिंदाबाद आप से यही उम्मीद थी. 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in