पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

ज़हरीले पत्रों से हत्या की साजिश

ज़हरीले पत्रों से हत्या की साजिश

नई दिल्ली. 20 अगस्त 2014

आईएम


दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया है कि आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन (आईएम) जहरीली चिठ्ठियों का इस्तेमाल कर कुछ वीवीआईपी लोगों की हत्या करना चाहता था. आतंकवादियों द्वारा अवैध हथियार फैक्ट्री चलाने के मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा दाखिल किए गए आरोप पत्र में यह बात सामने आई है.

ये खुलासा दिल्ली पुलिस ने आठ अगस्त को आईएम के आतंकवादियों तहसीन अख्तर, जिया-उर-रहमान उर्फ वकास और तीन अन्य मोहम्मद मारूफ, वकार अजहर और मोहम्मद साकिब अंसारी के खिलाफ कथित तौर पर अवैध हथियार फैक्ट्री स्थापित करने के मामले में दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में दाखिल आरोप पत्र से हुआ है.

आरोप पत्र के मुताबिक, "पूछताछ के दौरान आरोपी वकार और तहसीन ने खुलासा किया कि उन्होंने उपलब्ध रसायनों जैसे मैग्नीशियम सल्फेट, एसीटोन और अरंडी के बीज से जहर बनाने का प्रयास किया. उनका इरादा जहर बनाकर उसमें चिट्ठी को डुबोकर उसे लक्षित लोगों को भेजकर उन्हें मारने का था."

गौरतलब है कि नवंबर 2011 में दिल्ली पुलिस की विशेल शाखा ने नांगलोई इलाके में एक अवैध हथियार फैक्ट्री का भंडाफोड़ कर आईएम के कई संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया था. तहसीन को 25 मार्च को भारत-नेपाल सीमा के पास पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग जिले से गिरफ्तार किया गया था, जबकि वकास को 22 मार्च को अजमेर रेलवे स्टेशन के बाहर गिरफ्तार किया गया था.