पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

गैंगरेप को छोटी घटना बताकर घिरे जेटली

गैंगरेप को छोटी घटना बताकर घिरे जेटली

नई दिल्ली. 22 अगस्त 2014

अरुण जेटली


निर्भया गैंगरेप कांड को छोटी घटना बताकर चौतरफा आलोचना झेल रहे रक्षा एवं वित्त मंत्री अरुण जेटली ने अपने बयान पर खेद व्यक्त किया है. दरअसल गुरुवार को सभी राज्यों के पर्यटन मंत्रियों की बैठक में बोलते हुए जेटली ने दिल्ली के निर्भया कांड को एक छोटी सी घटना बताते हुए कहा था कि इससे पर्यटन उद्योग को करोड़ों का नुकसान हुआ है.

जेटली ने बैठक में पर्यटन को बढ़ावा देने पर जोर देते हुए जेटली ने कहा कि, '' टूरिज्म देश को आर्थिक तौर पर मजबूत करने का एक माध्यम है. इसी के जरिए पूरी दुनिया हमें देखती है. दिल्ली में छोटी सी घटना का दुनियाभर में विज्ञापन किया गया. दिल्ली में बलात्कार की छोटी घटना की वजह से पर्यटन को करोड़ों का नुकसान पहुंचता है.''

जेटली के इस विवादास्पद बयान की चौतरफा आलोचना हुई है. आम आदमी पार्टी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया ने कड़ी आपत्ति जताते हुए ट्विटर पर कहा, 'मोदी जी, आप तो भाषण देते थे कि रेप की घटना से आपका माथा शर्म से झुक जाता है. अब जेटली जी की हरकत से आपको कुछ शर्म आती है क्या?'.

इस बयान को ज्योति पांडे (निर्भया) की मां ने भी गैर-जिम्मादाराना बताते हुए कहा है कि वो इससे बहुत निराश और दुखी हैं. इसके अलावा महिला आयोग की सदस्य निर्मला सावंत ने कहा है कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और हैरान करने वाला बयान है, इसकी हर स्तर पर निंदा होनी चाहिए. वहीं कांग्रेस नेत्री शोभा ओझा ने इसे बेहूदा और शर्मनाक बताते हुए कहा कि 'यह बीजेपी के तमाम नेताओं की महिलाओं के प्रति सोच को दर्शाता है. अरुण जेटली को अपने इस घटिया बयान पर देश की महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए.'

मामले पर हो रहे बवाल को देखते हुए अरुण जेटली ने कहा है कि उनके बयान को गलत तरीके से समझा गया. रेप की घटना को छोटी घटना बताने की मंशा नहीं थी. मैंने दिल्ली में क्राइम से हो रहे नुकसान के बारे में बोला था. मेरा मकसद किसी को ठेस पहुंचाने का नहीं था. इसके बावजूद अगर मेरे बयान से किसी को ठेस पहुंची है तो मुझे इसके लिए खेद है.'