पहला पन्ना >फ़िल्म > Print | Share This  

कटियाबाज़ मुख्यधारा को चुनौती देगी

मुख्यधारा को चुनौती देगी कटियाबाज़

नई दिल्ली. 23 अप्रैल 2014

कटियाबाज़


कानपुर में बिजली चोरी पर बनाई गई 80 मिनट की डॉक्यूमेंटरी फिल्म 'कटियाबाज' बॉलीवुड की मुख्यधारा को चुनौती देने के लिए इस शुक्रवार से देश के 50 सिनेमाघरों में आ चुकी है. मात्र एक करोड़ के बजट मे बनी कटियाबाज में कई मनोरंजक पहलू भी शामिल हैं.

फिल्म निर्देशक जोड़ी फहद मुस्तफा और दीप्ति कक्कड़ ने 'कटियाबाज' को सिनेमाघरों तक लाने के लिए तीन साल तक मशक्कत की. फिल्म के निर्देशकों को उम्मीद है कि 50 सिनेमाघरों में रिलीज होने के बाद ये फिल्म और बड़े पैमाने पर दर्शकों तक पहुंचेगी.

मुस्तफा ने बताया, "हम मुख्यधारा को चुनौती दे रहे हैं. हम बॉलीवुड वालों के साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं."

'कटियाबाज' का संगीत इंडियन ओशन बैंड ने दिया है. एक करोड़ रुपये के बजट में बनी डॉक्यूमेंटरी फिल्म
कक्कड़ ने कहा, "हम चाहते थे कि फिल्म दर्शकों का मनोरंजन भी करे और दर्शक फिल्म को याद रखें. हम एक ऐसा संगीत बैंड चाहते थे, जो कानपुर की संस्कृति का रस फिल्म में दे सके."