पहला पन्ना > राजनीति > गुजरात Print | Send to Friend | Share This 

नरेंद्र मोदी से पूछताछ पूरी

नरेंद्र मोदी से पूछताछ पूरी

गांधीनगर. 28 मार्च, 2010


गुजरात में 8 साल पहले हुए दंगों के मामले में एसआईटी के समक्ष पूछताछ के लिए पेश हुए मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया है कि आठ साल पहले भड़के दंगों के बाद उनसे पहली बार हुई पूछताछ पूरी हो गई है.

कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफ़री की पत्नी ज़किया जाफ़री की याचिका पर ये पूछताछ की गई है. ज़किया जाफरी ने अपनी याचिका में मोदी सहित 62 लोगों के ख़िलाफ़ शिकायत की है. ज्ञात रहे कि दंगों के दौरान अहमदाबाद की गुलबर्ग सोसाइटी में कांग्रेस के पूर्व सांसद एहसान जाफ़री समेत 69 लोगों की हत्या की गई थी.

क्या उनसे गुलबर्ग सोसायटी के दंगे के मामले में पूछताछ की गई, इस सवाल के जवाब में नरेंद्र मोदी ने कहा कि 27 फरवरी 2002 से लेकर चुनावों तक के सवाल थे. एसआईटी द्वारा पूछे गए सवालों की संख्या पर उन्होंने कहा कि मैंने उन्हें गिना नहीं.

रविवार को पत्रकारों से बातचीत में 59 वर्षीय नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने एसआईटी के तमाम सवालों के जवाब दिये और जांच में पूरा सहयोग किया. उन्होंने कहा कि पहली बार मुझसे इन मुद्दो पर किसी ने बात करनी चाही है और मैंने उन्हें सहयोग किया है.

शनिवार को पहले दौर में कोई पांच घंटे तक एसआईटी ने उनसे सवाल-जवाब किया. इसके बाद रात नौ बजे से एक बजे तक दूसरे दौर में नरेंद्र मोदी से सवाल-जवाब किये गये. मोदी चाहते थे कि सवाल-जवाब की प्रक्रिया एक ही दिन में पूरी कर ली जाये.

मोदी ने मीडिया को लेकर कहा कि आपने मुझे अब भी कठघरे में रखा है. भारतीय संविधान के अनुसार कानून सर्वोपरि है. एक आम आदमी और मुख्यमंत्री के तौर पर मैं भारतीय संविधान और कानून से बंधा हुआ हूं. कोई भी कानून से ऊपर नहीं हो सकता.

गुजरात दंगों के आठ साल मे पहली बार नरेंद्र मोदी को आपराधिक मामले के सिलसिले में पूछताछ के लिये पेश होना पड़ा. इससे पहले गुजरात उच्च न्यायालय उस याचिका को ख़ारिज कर चुकी है, जिसमें गुजरात दंगों में मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की भूमिका की जाँच पर रोक लगाने की प्रार्थना की गई थी.