पहला पन्ना >राज्य >बिहार Print | Share This  

छोटे कारोबारियों की कालाबाज़ारी माफ: मांझी

छोटे कारोबारियों की कालाबाज़ारी माफ: मांझी

पटना. 3 सितंबर 2014

manjhi


बिहार के मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने एक बार फिर अपने बयान से विवाद खड़ा कर दिया है. एक सभा को संबोधित करते हुए मांझी ने कहा कि छोटे व्यापारियों द्वारा जमाखोरी और कालाबाजारी को अपराध नहीं माना जाएगा और उनसे कहा कि वे ऐसी गतिविधियों को लेकर चिंता नहीं करें.

मांझी ने ये बातें बिहार राज्य खाद्यान्न व्यवसायी संघ की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में कहीं. यहां उन्होंने कहा कि “मुझे जानकारी है कि छोट व्यापारी लाभ के लिए जमाखोरी और कालाबाजारी में लिप्त होते हैं ताकि वे अपने परिवार का भरण पोषण कर सकें और अपने बच्चों को शिक्षा प्रदान कर सकें.”

मांझी ने यह भी कहा कि उन्हें ऐसी गतिविधियों पर आपत्ति नहीं है, क्योंकि व्यापारी ऐसा 'नेक काम' के लिए कर रहे हैं, जो कि परिवार का पालन-पोषण और बच्चों को शिक्षा प्रदान करना है.

मांझी ने कालाबाज़ारी करने वाले व्यापारियों को कार्रवाई न होने का भरोसा दिलाते हुए कहा कि राज्य सरकार छोटे स्तर पर जमाखोरी और कालाबाजारी के लिए उन्हें दंडित नहीं करेगी.