पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

जम्मू: बाढ़ से हताहतों की संख्या बढ़ी

जम्मू: बाढ़ से हताहतों की संख्या बढ़ी

श्रीनगर. 6 सितंबर 2014

jammu kashmir


जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से मरने वालों की संख्या शनिवार को 120 के पार पहुँच गई है. अधिकारियों के मुताबिक, राजौरी जिले के थनामंडी में शुक्रवार को 14 लोगों की मौत भूस्खलन में हो गई. जहां 14 लोगों के शव बरामद किए गए हैं, वहीं कुछ अन्य लोगों के फंसे होने की आशंका है.

मौसम विभाग ने शनिवार को जम्मू एवं कश्मीर में और अधिक बारिश होने का अनुमान जताया है, लेकिन उसका कहना है कि रविवार से मौसम की स्थिति में सुधार होने की उम्मीद है.

पिछले पाँच दिनों में सुरक्षा बलों तथा राज्य पुलिस ने जम्मू, कठुआ, राजौरी, पूंछ, रियासी, रामबान, सांबा, डोडा तथा किश्तवाड़ जिलों के बाढ़ प्रभावित इलाकों में फंसे 2,000 से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया.

गौरतलब है कि जम्मू क्षेत्र में चेनाब नदी तथा तावी नदी शनिवार सुबह खतरे के निशान से ऊपर बह रही थी. राज्य के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब तावी नदी पर बने तीन पुलों को यातायात के लिए खतरनाक बताते हुए बंद कर दिया गया. जम्मू जिले में अखनूर पुल पर भी यातायात रोक दिया गया है. इसे भी नदी में बढ़ते जल स्तर के कारण यात्रा की दृष्टि से खतरनाक करार दिया गया है. जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग भी शनिवार को लगातार तीसरे दिन बंद रहा है और वैष्णो देवी यात्रा को भी स्थगित कर दिया है.

बाढ़ एवं भूस्खलन के कारण पूंछ, डोडा तथा किश्तवाड़ से जम्मू को जोड़ने वाली सड़क भी शनिवार को लगातार तीसरे दिन बंद रही. इस तरह रपटें भी हैं कि पूंछ, राजौरी, डोडा, किश्तवाड़, रियासी, रामबान, सांबा, कठुआ तथा उधमपुर जिलों में पिछले चार दिन में बिजली आपूर्ति बुरी तरह प्रभावित हुई है.