पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

मनोहर खट्टर हरियाणा के सीएम होंगे

मनोहर लाल खट्टर हरियाणा के सीएम होंगे

चंडीगढ़. 21 अक्टूबर 2014
 

मनोहर लाल खट्टर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के करीबी माने जाने वाले मनोहर लाल खट्टर हरियाणा के अगले मुख्यमंत्री होंगे.  खट्टर मुख्यमंत्री के रूप में रविवार को शपथ लेंगे. नरेंद्र मोदी की तरह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के पूर्व प्रचारक खट्टर को भाजपा के नवनिर्वाचित विधायकों ने यहां एक बैठक में विधायक दल का नेता चुन लिया.

हरियाणा के राज्यपाल कप्तान सिंह सोलंकी ने मंगलवार को खट्टर को राज्य में नई सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया. खट्टर का शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन हरियाणा राजभवन के बदले, पंचकुला के ताऊ देवीलाल स्पोर्ट्स स्टेडियम में होगा. हरियाणा विधानसभा चुनाव में 47 सीटें जीतकर राजनीतिक इतिहास रचने वाली भाजपा ने राज्य में अगली सरकार बनाने का दावा मंगलवार को पेश किया. ये पहला मौका है जब भाजपा हरियाणा में सरकार बनाएगी.

विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद खट्टर ने पार्टी की ओर से एक पत्र हरियाणा के राज्यपाल को सौंपा. खट्टर ने कहा, "भाजपा नेतृत्व और पार्टी विधायकों ने इस जिम्मेदारी के लिए मुझे चुना है. मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि हरियाणा की जनता के कल्याण के लिए काम करूंगा."

खट्टर ने मीडियाकर्मियों से कहा, "मेरी सरकार पारदर्शी होगी और किसी क्षेत्र के साथ कोई भेदभाव नहीं होगा. हम सभी को साथ लेकर चलेंगे." पहली बार विधायक बने खट्टर मुख्यमंत्री भी बनने जा रहे हैं. उनके पास हालांकि कोई प्रशासनिक अनुभव नहीं है. वह पंजाबी समुदाय से हैं और भाजपा को उम्मीद है कि खट्टर हरियाणा की राजनीति से जाटों का वर्चस्व कम करने में कामयाब होंगे.

यह पहला मौका है जब भाजपा राज्य में अपनी सरकार बनाने जा रही है. भाजपा ने इसके पहले 2009 के विधानसभा चुनाव में मात्र चार सीटों पर जीत हासिल की थी. भाजपा के लिए यह चुनाव ऐतिहासिक रहा, क्योंकि उसने इस बार 47 सीटें हासिल की.

इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) दूसरे स्थान पर रहा और उसे 19 सीटें प्राप्त हुईं, जबकि कांग्रेस मात्र 15 सीटें ही जीत पाई और तीसरे स्थान पर रही. दो सीटें हरियाणा जनहित कांग्रेस (हजकां) के खाते में गईं, एक-एक सीट शिरोमणि अकाली दल (शिअद) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने जीती.


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in