पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

मायावती पर टिकट बेचने का आरोप

मायावती पर टिकट बेचने का आरोप

नई दिल्ली. 5 नवंबर 2014
 

मायावती

राज्यसभा सांसद अखिलेश दास ने बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष मायावती पर चुनावों में टिकट बेचने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि मायावती की तरफ से रिजर्व सीट के लिए पचास लाख और समान्य के लिए एक करोड़ रुपये की हमेशा से मांग होती रही है.

बकौल अखिलेश दास, "प्रदेश में हर टिकट के दावेदारों से 10 लाख रुपये पहले जमा करने होते हैं. इसके बाद बात होती है." उन्होंने कहा कि डेढ़ महीने पहले मायावती ने अपनी पार्टी के सभी सांसदों और विधायकों से दस लाख रुपये की राशि ली थी.

वहीं इससे पहले मायावती ने अखिलेश दास गुप्ता पर टिकट खरीदने के लिए लिए रुपए देने का आरोप लगाया है. उन्होंने बुधवार को लखनऊ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि अखिलेश दास ने राज्यसभा टिकट के लिए उन्हें 100 करोड़ का ऑफर दिया था, लेकिन उन्होंने मना कर दिया.

गौरतलब है कि अखिलेश दास का राज्यसभा में कार्यकाल 24 नवंबर को समाप्त हो रहा है. अखिलेश दास उत्तर प्रदेश में कई शैक्षणिक संस्थान चलाते हैं.

मायावती ने राज्यसभा के लिए दो बसपा प्रत्याशियों का ऐलान कर दिया है. आजमगढ़ के राजा राम और मुरादाबाद के वीर सिंह एडवोकेट को उम्मीदवार बनाया है.
 

 

इस समाचार / लेख पर पाठकों की प्रतिक्रियाएँ

 
 

k.k.shukla [shuklakkant@gmail.com] lucknow - 2014-11-05 17:07:41

 
  Are ye koi khulasa hai ye tho sabhi janthe hai khud myawati ji ne hi press me kha ki mae pase lethi hun aakhi akhilesh das ne spa aur phir bspa se rajyasbha paisa dekhar hi tho ghe the aur unme kya visestha jo in dalo ne unhe upkrat kia aur isme krabi bhi kya kyoki ab rajneeth me vichar ,samrpan aur nistha bhimani ho ghye hai har dal ka hai ye hi hal . Kuch kam kuch jyada 
   
सभी प्रतिक्रियाएँ पढ़ें

इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in