पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

रक्षामंत्री बनने पर्रिकर ने छोड़ा सीएम पद

कालेधन के मुद्दे पर सरकार से नाराज़ स्वामी

कोलकाता. 8 नवंबर 2014
 

सुब्रमणियम स्वामी

भाजपा नेता सुब्रमणियम स्वामी ने कालेधन के मामले में खातेदारों के नाम ना उजागर करने की केंद्र की एनडीए सरकार की मंशा पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा है कि केंद्र सरकार काले धन के खाताधारकों में शामिल भारतीयों के नामों का खुलासा नहीं करने का कोई वैध कारण नहीं बता रही है.

कोलकाता में एक कार्यक्रम में शरीक होने पहुँचे स्वामी ने कहा कि सरकार कहती है कि भारत ने दूसरे देशों के साथ जो डबल टैक्सेशन अवायडेंस एग्रीमेंट (डीटीएए) पर हस्ताक्षर किया है, वह उसे विदेशी बैंकों के खाताधारकों के नामों का खुलासा करने से रोकता है. उन्होंने कहा कि ये कोई वैध कारण नहीं है.

उन्होंने कहा कि डीटीएए में हालांकि गोपनीयता का एक उपबंध है जो सरकार को नामों का खुलासा करने से रोकता है लेकिन इस बाधा को दूर किया जा सकता है. स्वामी ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखा है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा आगे बढ़ाई गई जिरह सही नहीं है.

स्वामी ने उस पत्र में लिखा है कि जब बीजेपी विपक्ष में थी तब उसने डीटीएए का हवाला देने के लिए कांग्रेस नीत यूपीए सरकार की आलोचना की थी क्योंकि तब इसी एक कारण के चलते सरकार नामों का खुलासा नहीं कर रही थी. अब वर्तमान सरकार भी यही कर रही है.