पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

धर्मनिरपेक्षता के बिना देश कुछ नहीं: सोनिया

धर्मनिरपेक्षता के बिना देश कुछ नहीं: सोनिया

नई दिल्ली. 17 नवंबर 2014
 

सोनिया गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का कहना है कि धर्मनिरपेक्षता न केवल आदर्श है बल्कि बहुत जरूरी भी है. उन्होंने कहा कि धर्मनिरपेक्षता के बिना भारत कुछ भी नहीं है.

उन्होंने कहा, "धर्मनिरपेक्षता के बिना कोई भारतीयता एवं भारत नहीं हो सकता. आदर्श की तुलना में धर्मनिरपेक्षता देर तक रहती है. यह भारत जैसे विविधताओं वाले देश में बहुत जरूरी है."

सोनिया ने पार्टी की ओर से भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की 125वीं जयंती पर आयोजित एक अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि नेहरू 20वीं सदी की महान शख्सियतों में से एक थे.

कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, "वह कई योग्यताओं वाले शख्स थे. वह कर्म पुरुष, पत्राचार पुरुष, पूर्व एवं पश्चिम के हमदर्द और एक प्रबल राष्ट्रवादी थे." सोनिया ने कहा कि उन्होंने दुनिया के समक्ष भारत की व्याख्या की.