पहला पन्ना >राष्ट्र > Print | Share This  

ममता कुलकर्णी ड्रग तस्करी करते गिरफ्तार

बाल मजदूरी के खिलाफ कड़े कानून हो: सत्यार्थी

नई दिल्ली. 21 नवंबर 2014
 

कैलाश सत्यार्थी

नोबल पुरस्कार विजेता एवं बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी ने कहा है कि विश्व में बेरोजगारी की बढ़ती दर से निपटने के लिए मजदूरों के रूप में काम कर रहे बच्चों को बचाने और उनके पुनर्वास की जरूरत है.

दिल्ली में हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप सम्मेलन में सत्यार्थी ने कहा, "दुनिया भर में 16.8 करोड़ बच्चे नौकरियों में हैं और 20 करोड़ वयस्क बेरोजगार हैं."

सत्यार्थी ने बाल मजदूरी के खिलाफ कड़े कानून बनने की जरूरत भी बताई. उन्होने कहा कि ये देश के भविष्य के साथ खिलवाड़ है इसलिए संसद को इस दिशा में आगे आकर 14 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को मजदूरी करने से रोकने के लिए सख्त कानून बनाना चाहिए

उन्होंने कहा कि यह अपने आप नहीं होगा. इसके लिए सरकार और लोगों के निरंतर प्रयास की जरूरत है. उन्होंने कहा, "आपको इन बेजुबान बच्चों के मौन को सुनने की जरूरत है. आपको इनकी मदद के लिए आगे आना होगा."