पहला पन्ना प्रतिक्रिया   Font Download   हमसे जुड़ें RSS Contact
larger
smaller
reset

इस अंक में

 

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

सवाल विकास की समझ का

प्रतिरोध के वक्ती सवालों से अलग

गरीबी उन्मूलन के नाम पर मज़ाक

जनमत की बात करिये सरकार

नेपाल पर भारत की चुप्पी

लोहिया काल यानी संसद का स्वर्णिम काल

स्मार्ट विलेज कब स्मार्ट बनेंगे

पाकिस्तान आंदोलन पर नई रोशनी

नर्मदा आंदोलन का मतलब

क्यों बढ़ रहा भूख का आंकड़ा

हमारे कुलभूषण को छोड़ दो

भारत व अमेरिका में केमिकल लोचा

युद्ध के विरुद्ध

किसके साथ किसका विकास

क्या बदल रहा है हिन्दू धर्म का चेहरा?

मोदी, अमेरिका और खेती के सवाल

 
  पहला पन्ना >राजनीति > Print | Share This  

गिरिराज का राज खोलने पर तबादला

गिरिराज का राज खोलने पर तबादला

नई दिल्ली. 6 दिसंबर 2014
 

गिरिराज सिंह

मोदी सरकार में राज्यमंत्री गिरिराज सिंह के बारे में खुलासा करना बिहार राज्य मानवाधिकार आयोग के पुलिस अधीक्षक (एसपी) अमिताभ कुमार दास को महंगा पड़ा है. दास को इस खुलासे के लिए मानवाधिकार आयोग से हटाकर पुलिस अधीक्षक, नागरिक सुरक्षा आयुक्त बना दिया गया है और अब एस़ एम़ वकील अहमद को राज्य मानवाधिकार आयोग का नया पुलिस अधीक्षक बनाया गया है.

दरअसल दास ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता गिरिराज सिंह को मोदी के मंत्रिमंडल में जगह मिलने के अगले ही दिन विशेष शाखा के महानिरीक्षक ज़े एस़ गंगवार को एक रिपोर्ट भेजी थी, जिसमें कहा गया था कि गिरिराज सिंह का संबंध जातीय संगठन रणवीर सेना से है

रिपोर्ट में यह भी कहा गया था कि एक जून 2012 को रणवीर सेना के प्रमुख ब्रम्हेश्वर मुखिया की हत्या के बाद गिरिराज ने संवेदना प्रकट करते हुए मीडिया को दिए बयान में ब्रrोश्वर को 'गांधीवादी' बताया था और श्रद्धांजलि देने ब्रम्हेश्वर के गांव भी गए थे.

एसपी की रिपोर्ट पर राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) बिलाल नजाकी ने दास को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए पूछा था कि उन्होंने किस अधिकार से विशेष शाखा के पुलिस महानिरीक्षक को रिपोर्ट सौंपी. भाजपा के नेताओं ने भी दास की इस रिपोर्ट का विरोध करते हुए उन्हें 'विवादास्पद अधिकारी' बताया था और उन्हें निलंबित करने की मांग की थी.
 


इस समाचार / लेख पर अपनी प्रतिक्रिया हमें प्रेषित करें

  ई-मेल ई-मेल अन्य विजिटर्स को दिखाई दे । ना दिखाई दे ।
  नाम       स्थान   
  प्रतिक्रिया
   


 
  ▪ हमारे बारे में   ▪ विज्ञापन   |  ▪ उपयोग की शर्तें
2009-10 Raviwar Media Pvt. Ltd., INDIA. feedback@raviwar.com  Powered by Medialab.in