पहला पन्ना > राज्य > छत्तीसगढ़ Print | Send to Friend | Share This 

चिदंबरम ने ली दंतेवाड़ा की जिम्मेवारी

चिदंबरम ने ली दंतेवाड़ा की जिम्मेवारी

नई दिल्ली. 9 अप्रैल 2010


छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में नक्सली हमले में बड़ी संख्या में सीआरपीएफ जवानों के मारे जाने की घटना की ‘‘पूर्ण जिम्मेदारी’’ स्वीकार करते हुए गृहमंत्री पी चिदंबरम ने शुक्रवार को कहा, ‘‘इसकी पूरी जिम्मेदारी वह अपने ऊपर लेते हैं.’’ ज्ञात रहे कि मंगलवार को दंतेवड़ा में सीआरपीएफ के 75 और राज्य पुलिस के एक जवान की नक्सलियों ने हत्या कर दी थी.

सीआरपीएफ के शौर्य दिवस के अवसर पर आयोजित समारोह में चिदंबरम ने कहा कि सीआरपीएफ की शहादत को हम नहीं भूल सकते. उन्होंने कहा कि इसके प्रति उनके दिल में खास सम्मान है. गृहमंत्री ने कहा कि सीआरपीएफ अर्धसैनिक बल से बढ़कर है.

उन्होंने सीआरपीएफ के एक समारोह में कहा, ‘‘हमले के बाद प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से मुझसे पूछा गया है कि जिम्मेदारी किसकी बनती है. पूरी जिम्मेदारी मैं अपने ऊपर लेता हूं.’’

चिदंबरम ने कहा कि वह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को लिखित में दे चुके हैं कि ‘‘मैं पूर्ण जिम्मेदारी स्वीकार करता हूं. इससे आगे मैं और कुछ नहीं कहना चाहता.’’

चिदंबरम ने कहा कि दंतेवाड़ा में हुए नक्सली हमले के बाद मीडिया में काफी कुछ लिखा गया, लेकिन सारी बातें सच नहीं हैं. उन्होंने कहा कि जवानों की बहादुरी और नक्सलियों के मारे जाने के बारे में नहीं लिखा गया. चिदंबरम ने अपील की कि जवानों के लिए असम्मानजनक बातें न की जाएं.

उन्होंने कहा कि देश के लोगों को जवानों के साथ खड़े होना चाहिए. उन्होंने कहा कि मेरी जिम्मेदारी है कि इन लोगों को अच्छे भत्ते मिले, रहने को अच्छे मकान हों, अच्छी ट्रेनिंग मिले और मैं अपनी पूरी क्षमता के साथ सीआरपीएफ के लिए इस काम में लगा हूं.